दिल्ली पुलिस के नए कमांडर की तलाश तेज

दिल्ली पुलिस के नए कमांडर की तलाश तेज
search-intensifies-for-new-delhi-police-commander

नई दिल्ली, 16 जून (हि.स.)। दिल्ली पुलिस के लिए नए कमांडर (पुलिस कमिश्नर) की तलाश तेज हो चुकी है। पुलिस कमिश्नर एसएन श्रीवास्तव 30 जून को सेवानिवृत्त हो रहे हैं। उनकी जगह 1987 या 1988 बैच के किसी आईपीएस अधिकारी को यह जिम्मेदारी सौंपी जा सकती है। पुलिस सूत्रों की मानें तो विशेष आयुक्त ट्रैफिक ताज हसन, विशेष आयुक्त विजिलेंस बालाजी श्रीवास्तव, जम्मू के आईपीएस दिलबाग सिंह और मिजोरम डीजी एसबीके सिंह कमिश्नर पद के मुख्य दावेदारों में शामिल हैं। मिली जानकारी के अनुसार, दिल्ली पुलिस कमिश्नर एसएन श्रीवास्तव को दिल्ली दंगे के बाद विशेष आयुक्त कानून व्यवस्था लगाया गया था। 28 फरवरी 2020 को तत्कालीन पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक सेवानिवृत हुए तो उन्हें दिल्ली पुलिस कमिश्नर का कार्यभार सौंपा गया। जबकि बीते मई महीने में उन्हें पुलिस कमिश्नर का पूर्ण पद सौंपा गया था। आगामी 30 जून को उनका कार्यकाल समाप्त हो रहा है। उन्हें उम्मीद थी कि एक्सटेंशन मिलेगा, लेकिन इसकी उम्मीद कम है। इसलिए माना जा रहा है कि 30 जून को दिल्ली पुलिस को उसका नया कमिश्नर मिल सकता है। कौन होगा नया पुलिस कमिश्नर दिल्ली पुलिस में अभी सबसे ज्यादा चर्चा नए पुलिस कमिश्नर को लेकर है। इस पद की जिम्मेदारी किसे मिलेगी, यह सस्पेंस बना हुआ है। सूत्रों की माने तो चार आईपीएस अधिकारी पुलिस कमिश्नर पद के लिए दावेदार हैं। इनमें सबसे सीनियर 1987 बैच के आईपीएस अधिकारी ताज हसन हैं। फिलहाल वे दिल्ली पुलिस में एसएन श्रीवास्तव के बाद सबसे सीनियर हैं। हसन के पास ट्रैफिक पुलिस का कार्यभार है। इससे पहले वे विशेष आयुक्त अपराध शाखा, डीजी एनसीबी, संयुक्त आयुक्त नई दिल्ली रेंज आदि का कार्यभार संभाल चुके हैं। दूसरे नंबर पर 1987 बैच के आईपीएस दिलबाग सिंह हैं। वे जम्मू कैडर के अधिकारी हैं, लेकिन जम्मू के केंद्र शासित प्रदेश बनने के बाद वे एजीएमयूटी कैडर के अधिकारी बन चुके हैं। इसलिए दिल्ली पुलिस कमिश्नर पद के लिए उनकी भी प्रमुख दावेदारी है। तीसरे नंबर पर 1988 बैच के आईपीएस अधिकारी बालाजी श्रीवास्तव का नाम है। कुछ ही माह पहले वे पुडुचेरी से लौटे हैं। वे पुडुचेरी के डीजी रहे हैं। फिलहाल बालाजी श्रीवास्तव विशेष आयुक्त विजिलेंस हैं। इससे पहले वे विशेष आयुक्त स्पेशल सेल एवं इंटेलिजेंस के पद पर रह चुके हैं। चौथे नंबर पर 1988 बैच के आईपीएस अधिकारी एसबीके सिंह का नाम है। अभी वे मिजोरम के डीजी हैं। इससे पूर्व अरुणाचल प्रदेश के डीजी थे। एसबीके सिंह दिल्ली में विशेष आयुक्त कानून व्यवस्था एवं संयुक्त आयुक्त क्राइम ब्रांच रह चुके हैं। सूत्रों का कहना है कि जल्द ही इन चार अधिकारियों में से किसी एक को पुलिस कमिश्नर घोषित किया जा सकता है। हिन्दुस्थान समाचार/अश्वनी

अन्य खबरें

No stories found.