प्रेमी ने फांसी लगाकर सुसाइड नोट में प्रेमिका तथा सखी वन स्टॉप सेंटर की इंचार्ज को जिम्मेदार बताया
प्रेमी ने फांसी लगाकर सुसाइड नोट में प्रेमिका तथा सखी वन स्टॉप सेंटर की इंचार्ज को जिम्मेदार बताया
देश

प्रेमी ने फांसी लगाकर सुसाइड नोट में प्रेमिका तथा सखी वन स्टॉप सेंटर की इंचार्ज को जिम्मेदार बताया

news

जिले के चिरोंज गांव में शुक्रवार को एक प्रेमी ने पेड़ पर फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। मौके पर पहुंची बरोनी पुलिस को मृतक की जेब से सुसाइड नोट मिला, जिसमें उसने प्रेमिका तथा सखी वन स्टॉप सेंटर की इंचार्ज पर आत्महत्या के लिए मजबूर करने का आरोप लगाया है। पुलिस ने युवक के शव का पोस्टमार्टम करवा कर परिजनों को सौंप दिया। जानकारी के अनुसार खेतों की तरफ जा रहे ग्रामीणों ने पेड़ पर फंदे पर संजू वर्मा लटका देखा तो तुरंत उसके परिजनों तथा पुलिस को सूचना दी। बरोनी पुलिस ने मौके पर पहुंचकर युवक के शव को फंदे से उतार कर उसकी तलाशी ली। जिसमें पुलिस को मृतक की जेब से सुसाइड नोट मिला। सुसाइड नोट – “मीना पिछले नौ वर्षों से मेरे साथ है। हमने शादी की है। पिछले 4-5 दिनों से किसी बात पर अनबन हो गई। रिश्ता तोड़ने के कारण उसने मुझे जेल भिजवा दिया। इसलिए मैं आत्महत्या कर रहा हूं। इसकी प्रमुख वजह भावना मैडम हैं जो सखी वन स्टॉप सेंटर से हैं। मीना व भावना अच्छी दोस्त हैं। इन दोनों ने मिलकर मुझे फंसाया है। भावना मैडम ने जबरदस्ती से मेरे साइन लिए हैं। झूठी रिपोर्ट बनाई और पुलिस वालों को रिश्वत देकर मेरे खिलाफ केस किया जिसकी वजह से समाज वाले मुझे गलत मानने लगे हैं और मैं आत्महत्या करने पर विवश हो गया।” मृतक के पिता ने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई। जिसके अनुसार 28 जुलाई को मीना और सखी वन स्टॉप सेंटर की इंचार्ज भावना की शिकायत पर बारोनी पुलिस ने संजू को 151 में पाबंद किया था। भावना ने गुरुवार को जनाना अस्पताल स्थित सखी वन स्टॉप सेंटर पर मीना, उसके परिजनों, सरपंच, संजू तथा उसके परिजनों बुलाया था। यहां भावना ने संजू और उसके भाई राजू को डराया तथा जेल भेजने की धमकी देकर एक कागज पर संजू के परिजनों के हस्ताक्षर कराए थे।-newsindialive.in