सागर हत्याकांड : सुशील के करीबी जूडो कोच क्राइम ब्रांच की गिरफ्त में

सागर हत्याकांड : सुशील के करीबी जूडो कोच क्राइम ब्रांच की गिरफ्त में
sagar-murder-case-judo-coach-close-to-sushil-arrested-by-crime-branch

अश्वनी शर्मा नई दिल्ली, 16 जून (हि.स.)। उत्तर पश्चिमी जिले के मॉडल टाउन स्थित छत्रसाल स्टेडियम में हुई सागर धनखड़ हत्या के मामले की जांच में जुटी क्राइम ब्रांच ने सुभाष नाम के एक जूडो कोच को राजधानी दिल्ली से गिरफ्तार किया है। पुलिस का दावा है कि गिरफ्तार आरोपित सागर की हत्या के वक्त मौके पर मौजूद था और मारपीट में शामिल था। इस मामले में पुलिस अबतक कुल 11 आरोपितों की गिरफ्तार कर चुकी है। क्राइम ब्रांच की डीसीपी मोनिका भारद्वाज ने बुधवार को ‘हिन्दुस्थान समाचार’ से बातचीत में कहा कि क्राइम ब्रांच ने आरोपित सुभाष को एक गुप्त सूचना के आधार पर दिल्ली के किराड़ी इलाके में स्थित उसके घर से गिरफ्तार किया है। डीसीपी मोनिका भारद्वाज ने कहा कि वारदात के बाद से वह फरार चल रहा था। पुलिस से बचने के लिए उसने अपना मोबाइल नंबर भी बंद कर रखा था। उसकी तलाश में जुटी पुलिस मोबाइल की कॉल डिटेल रिकॉर्ड (सीडीआर) के जरिये उसके करीबी नेटवर्क का पता लगाकर उसके साथियों के जरिये नजर रख रही थी।मंगलवार को यह सूचना मिली कि वह अपने घर आने वाला है, तब पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। अबतक 11 आरोपित गिरफ्तार इस मामले में अब तक कुल 11 आरोपितों की गिरफ्तारी हो चुकी है। पुलिस ने मौके से एक आरोपित प्रिंस को घटना वाले दिन ही दबोच लिया था, जबकि सुशील कुमार और अजय को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गिरफ्तार किया था। इसके अलावा असौदा-बवाना गैंग के चार अन्य बदमाश भूपेंद्र उर्फ भूपी, मोहित उर्फ भोली, गुलाब उर्फ पहलवान और मनजीत उर्फ चुन्नीलाल को रोहिणी जिले की स्पेशल स्टॉप टीम ने गिरफ्तार किया था। उसके बाद विरेंदर उर्फ विंदर और रोहित करोर को पुलिस ने दबोचा। जबकि 11 जून को सोनीपत के अनिरुद्ध नाहरी नाम के एक पहलवान की गिरफ्तारी हुई। इस मामले में 11 वें आरोपित जूडो कोच सुभाष की हुई है। क्या था मामला गत 4 मई, 2021 को देर रात दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में सुशील कुमार अपने कुछ साथियों के साथ सागर और उसके कुछ दोस्तों को लेकर पहुंचा और वहां उन सबकी जमकर पिटाई की, जिसमें सागर धनकड़ की मौत हो गई और उसके कई साथी बुरी तरह से घायल हो गए, जिनमें कुछ का अभी भी इलाज चल रहा है। जबकि सागर धनकड़ की मौके पर ही मौत हो गई थी। वारदात के बाद सुशील कुमार फरार हो गया था। उसे काफी मशक्कत के बाद दिल्ली पुलिस ने गत 23 मई को गिरफ्तार किया। इसके बाद से ही दिल्ली पुलिस एक-एककर वारदात में शामिल आरोपितों की गिरफ्तारी कर रही है। हिन्दुस्थान समाचार

अन्य खबरें

No stories found.