russian-foreign-minister-coming-to-india-will-discuss-bilateral-and-regional-issues
russian-foreign-minister-coming-to-india-will-discuss-bilateral-and-regional-issues
देश

रूसी विदेश मंत्री आ रहे भारत, द्विपक्षीय और क्षेत्रीय मसलों पर करेंगे चर्चा

news

नई दिल्ली, 05 अप्रैल (हि.स.)। रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव सोमवार रात्रि को भारत यात्रा पर यहां पहुचेंगे। वह राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बीच आगामी शिखरवार्ता के पहले भारत आ रहे हैं। इस दौरान उनकी विदेश मंत्री जयशंकर के साथ द्विपक्षीय और क्षेत्रीय मसलों और आगामी शिखरवार्ता के एजेंडे पर चर्चा होगी। लावरोव रात नौ बजे यहां पहुंचेंगे। वह मंगलवार सुबह विदेश मंत्री एस जयशंकर से हैदराबाद हाउस में मुलाकात करेंगे। दोपहर में दोनों नेता संयुक्त प्रेस वार्ता को संबोधित करेंगे। तत्तपश्चात वह शाम को पाकिस्तान की यात्रा पर रवाना होंगे। लावरोव की यह यात्रा उनकी चीन यात्रा के कुछ दिनों बाद हो रही है। उस यात्रा के दौरान लावरोव ने कहा था कि रूस और चीन के संबंध अब तक के इतिहास में सबसे मजबूत स्थिति में है। उल्लेखनीय है कि कोरोना महामारी के कारण पिछले वर्ष पुतिन और मोदी की शिखरवार्ता आयोजित नहीं हो पाई थी। इसी दौरान रूस के किसी वरिष्ठ मंत्री ने भी भारत का दौरा नहीं किया था। हालांकि पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ सैन्य संघर्ष और तनाव के बीच रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और विदेश मंत्री एस जयशंकर ने मास्को की यात्रा की थी। लावरोव की भारत यात्रा हिन्द-प्रशांत के शीर्ष नेताओं की क्वाड शिखरवार्ता के कुछ दिनों बाद हो रही है। क्वाड के बारे में रूस की कुछ आपत्तियां हैं तथा वह इस गुट को चीन विरोधी मंच के रूप में संचालित करने के खिलाफ है। भारतीय विदेश मंत्री के साथ बातचीत के दौरान रूस से भारत को मिसाइल रोधी रक्षा प्रणाली एस 400 की आपूर्ति पर भी चर्चा होने की संभावना है। अमेरिका ने भारत को चेतावनी दी है कि रूस से एस 400 हासिल करने की सूरत में उसे अमेरिकी प्रतिबंधों का सामना करना पड़ सकता है। इस संबंध में भारत का कहना है कि एस 400 हासिल करना भारत के रक्षा और राष्ट्रीय हितों के लिए आवश्यक है तथा वह इसे लेकर किसी दबाव में नहीं आएगा। हिन्दुस्थान समाचार/अनूप