आरजेडी और एलजेपी (पासवान) ने केंद्र की भूमिका पर उठाए सवाल

 आरजेडी और एलजेपी (पासवान) ने केंद्र की भूमिका पर उठाए सवाल
rjd-and-ljp-paswan-raised-questions-on-the-role-of-the-center

नई दिल्ली, 18 अक्टूबर (आईएएनएस)। कश्मीर में आतंकवादियों द्वारा पिछले दिनों बिहार के नागरिकों को निशाना बनाये जाने को लेकर जेडीयू के बाद राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) और लोक जनशक्ति पार्टी (पासवान) ने भी इस घटना की निंदा की है। साथ ही, इन पार्टियों ने केंद्र सरकार की भूमिका पर भी सवाल उठाए हैं। आरजेडी के वरिष्ठ नेता और सांसद मनोज झा ने सोमवार को आईएएनएस से बातचीत में मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि बिहार और केंद्र की कश्मीर में बीते दिनों जो कुछ हो रहा है, वो दुर्भाग्यपूर्ण है। बिहार के ऐसे लोगों की हत्या हो रही है। जो रोजीरोटी कमाने लिए गया। सवाल ये है कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इतने दवाब में क्यों है! क्यों चुप्पी साधे हुए हैं। क्या संदेश नहीं दे सकते। केंद्र सरकार क्या कर रही है, क्या वो ये सब करने की इजाजत दे रही है। बिहार के नेता विपक्ष तेजस्वी यादव ने भी ये मांग की थी कि जो डिस्ट्रेस में हैं, सारे लोग वहां जो हैं, उनको वहां से वापस लाया जाए। साथ ही 10 हजार प्रति माह उन्हें दिया जाए। आपको कोई मतलब नहीं है। इंसानी जान खतरे में है लेशमात्र भी आपको चिंता नहीं है। वहीं इस मसले पर एलजेपी (पासवान) पार्टी प्रमुख चिराग पासवान ने कहा, बिहार का बेटा कश्मीर में मारा जा रहा है। आजीविका कमाने गया था, मौत मिली। जहां सुरक्षा का खतरा है वहां बिहार के लोगों को क्यों जाना पड़ा, क्योंकि बिहार में काम नहीं है ? नीतीश जी से सवाल है- अगर बिहार में रोजगार होता तो क्या कश्मीर में आतंकियों की गोली का निशाना बनना पड़ता ? इससे पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उपराज्यपाल मनोज सिन्हा से फोन पर बात की थी। उन्होंने इस मसले पर गंभीर चिंता जाहिर करते हुए आतंकवादी हमले में बिहार के रहने वाले राजा ऋषिदेव और योगेन्द्र ऋषिदेव की हत्या पर दुख जताया। गौरतलब है कि कश्मीर में आतंकवादी पिछले कुछ दिनों से निर्दोष नागरिकों को निशाना बना रहे हैं। पिछले 15 दिनों में घाटी में करीब 11 लोगों की हत्या हो चुकी है। फिलहाल इन हमलों में पूछताछ के लिए करीब 700 लोगों को पुलिस प्रशासन ने हिरासत में लिया है। --आईएएनएस पीटीके/आरजेएस

अन्य खबरें

No stories found.