रितेश के बाद सोनू सूद भी “वॉरीअर आजी-मां” कि मदद के लिए आगे आए
रितेश के बाद सोनू सूद भी “वॉरीअर आजी-मां” कि मदद के लिए आगे आए
देश

रितेश के बाद सोनू सूद भी “वॉरीअर आजी-मां” कि मदद के लिए आगे आए

news

मुंबई, 24 जुलाई (हि.स.)। कोरोना महामारी के चलते दुनियाभर के लोगों का जनजीवन बिखर गया है। वही कोरोना संकट से बदहाल लोगों कि सहायता के लिए सेलिब्रिटीज भी आगे आ रहे है। अभिनेता रितेश देशमुख ने महाराष्ट्र के पुणे कि 85 वर्षिय बुजुर्ग महिला का करतब दिखाने वाला विडीओ ट्वीट कर उन्हें मदत करने कि इच्छा जताई थी। जिसके बाद अभिनेता सोनू सूद ने भी ट्वीट कर इस महिला के लिए ट्रेनिंग स्कूल शुरू करवाने की बात कही है। वही पुणे पुलिस ने इस महिला को एक महिने का राशन मुहय्या करवाया। कोरोना महामारी के चलते पुणे के हडपसर इलाके कि गोसावी बस्ती में रहनेवाली 85 वर्षिय बुजुर्ग शांताबाई पवार आर्थिक तंगी के चलते खासी परेशान हो गई है। उम्र के आखिरी पडाव में इस बुजुर्ग महिला को परिवार का पेट पालने कि चिंता सता रही है। शांताबाई को लाठी-डंडा चलाने कि प्राचिन युद्धकला मे महारत हासिल है। किसी जमाने में मराठा छापामार युद्ध कौशल हा हिस्सा रही यह युद्ध कला जानने वाले गिनेचुने लोगो में शांताबाई शामिल है। कोरोना महामारी में सडक के किनारे युद्धकला का प्रदर्शन करने वाला उनका विडीओ किसी ने सोशल मिडीया पर साझा किया। इस वृद्ध महिला को इस उम्र में यह सब करते हुए देख लोग बहुत ही आश्चर्यचकित हैं। वीडियो में यह महिला लाठी के माध्यम से ऐसे-ऐसे करतब कर रही है कि देखने वाला हर शख्स हैरान हो गया। सोशल मीडिया पर महिला को “वॉरियर आजी माँ” कहकर बुलाया जा रहा है। जानेमाने अभिनेता रितेश देशमुख ने जब आजी माँ का विडियो देखा तो उन्होने इस महिला को मदत करने का फैसला किया। रितेशने सोशल मिडीया पर इस महिला वीडियो साझा करते हुए लोगो से उनके बारे में जानकारी मांगी, ताकी उनकी मदत कि जा सके। साथ ही आजी मां की मदद करने के लिए फैन्स रितेश देशमुख की भी तारीफ कर रहे हैं, क्योंकि उन्होंने खुद आगे बढ़कर उनकी मदद के लिए हाथ बढ़ाएं। इसके बाद पुणे पुलिस ने इस महिला से संपर्क कर उन्हे एक महिने का राशन मुहय्या करवायां है। इसके बाद अभिनेता सोनू सूद ने इस महिला का वीडियो सोशल मिडीया पर साझा करते हुए उनका पता और फोन नंबर मांगा है। सोनू इस बुजुर्ग महिला के लिए एक प्रशिक्षण संस्थान शुरू करना चाहते है। बतौर सोनू ऐसे ट्रेनिंग स्कूल में महिलाए आत्मरक्षा के लिए बुजुर्ग आजी मां से युद्ध कला सिख कर मुश्किल समय में आत्मरक्षा कर सकेंगी। हिन्दुस्थान समाचार-hindusthansamachar.in