रंजन गोगोई को राम मंदिर भूमि पूजन का आमंत्रण नहीं देना अन्याय : अधीर
रंजन गोगोई को राम मंदिर भूमि पूजन का आमंत्रण नहीं देना अन्याय : अधीर
देश

रंजन गोगोई को राम मंदिर भूमि पूजन का आमंत्रण नहीं देना अन्याय : अधीर

news

कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने अयोध्या में राम मंदिर के लिए होने वाले भूमि पूजन समारोह में पूर्व चीफ जस्टिस रंजन गोगोई को आमंत्रित किए जाने की मांग की है। चौधरी ने कहा कि अगर पांच अगस्त को भूमि पूजन समारोह में रंजन गोगोई को नहीं बुलाया गया तो यह उनके साथ अन्याय होगा। नौ सितंबर 2019 को पांच सदस्यीय पीठ ने अयोध्या राम जन्मभूमि विवाद में बहुप्रतीक्षित फैसला सुनाया था। उस पीठ के अध्यक्ष तत्कालीन चीफ जस्टिस रंजन गोगोई थे। लोकसभा में कांग्रेस के नेता चौधरी ने कहा, ‘राम मंदिर भूमि पूजन व भव्य राममंदिर निर्माण को लेकर देशभर में उत्साह का माहौल है। उद्योगपतियों को आमंत्रित किया जा रहा है, सत्तारूढ़ पार्टी के नेता आ रहे हैं, रामजन्मभूमि आंदोलन से जुड़े नेता कार्यक्रम में शामिल हो सकते हैं तो रंजन गोगोई क्यों नहीं? यह जरूरी है कि उन्हें आयोजन में आमंत्रित किया जाए।’ बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 5 अगस्त को अयोध्या जाएंगे।इस दौरान पीएम मोदी राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन कार्यक्रम में शामिल होंगे। अयोध्या में इसके लिए तैयारियां जोरों पर हैं। पूर्व चीफ जस्टिस गोगोई वर्तमान में राज्यसभा सांसद के रूप में सेवारत हैं। उन्हें राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद द्वारा संसद के उच्च सदन में नामित किया गया था। राज्यसभा सांसद के तौर पर नामित किए जाने को लेकर विपक्षी दलों ने काफी आलोचना की थी। रंजन गोगोई ने 3 अक्टूबर, 2018 से 17 नवंबर, 2019 तक भारत के 46 वें मुख्य न्यायाधीश के रूप में कार्य किया। कार्यालय छोड़ने से पहले गोगोई ने कहा था कि भारतीय अदालतों में मामलों की पेंडेंसी के कारण संस्था पर भारी दबाव पड़ रहा है।-newsindialive.in