इंदौर में राखी, मिठाई और पूजन सामग्री की दुकानें खुलीं, बाकी बाजार बंद
इंदौर में राखी, मिठाई और पूजन सामग्री की दुकानें खुलीं, बाकी बाजार बंद
देश

इंदौर में राखी, मिठाई और पूजन सामग्री की दुकानें खुलीं, बाकी बाजार बंद

news

शहर में रविवार को लॉकडाउन रहता है। रक्षाबंधन के चलते इस बार राखी, मिठाई और पूजन सामग्री की दुकानें खुली हैं। पिछले रविवार की तरह इस बार शहर की सड़कों पर सन्नाटा नहीं देखा जा रहा है। बड़ी संख्या में लोगों की आवाजाही जारी है। पुलिस भी किसी को रोक नहीं रही है। रक्षाबंधन त्योहार को देखते हुए शनिवार रात को प्रशासन द्वारा राखी, पूजन सामग्री और मिठाई की स्थाई और अस्थायी दुकानें सुबह 7 से रात 8 बजे तक खुली रखने का निर्णय लिया गया। हालांकि, बाजार खुला रखने का निर्णय लेने में देरी करने से अधिकांश महिलाओं ने शनिवार को ही खरीदारी कर ली थी। रविवार को इंदौर में आधा-अधूरा लॉकडाउन दिखाई दे रहा है। राजबाड़ा जैसे क्षेत्र में लोगों की भीड़ दिखाई दे रही है वहीं रीगल तिराहे के आगे सन्नाटा पसरा है। राखी, पूजन सामग्री और मिठाई की दुकानें खुली हैं जहां पर खरीदार नजर आ रहे हैं। इसके अलावा सभी बाजार बंद है। रविवार को खरीदारी करने निकली महिलाओं का कहना है कि जब राखी की दुकानें खुली हुई हैं तो राजबाड़ा और शीतलामाता बाजार स्थित कपड़ों व साड़ियों की दुकानों को भी खुला रखना चाहिए था। शुक्रवार (31 जुलाई) को प्रशासन ने निर्णय लिया था कि रविवार को सभी दुकानें बंद रहेंगी। इसके चलते शनिवार को बाजारों में काफी भीड़ दिखाई दी। राजबाड़ा, मारोठिया, सराफा, बर्तन बाजार जैसे प्रमुख बाजारों की सड़कों पर रात को दुकानें बंद होने तक लोगों की आवाजाही रही। बाजार के अनलॉक होने के बाद से जो ग्राहकी बाजार में दिखी थी, उसके मुकाबले पिछले एक सप्ताह में 10 फीसदी से अधिक ग्राहकी देखने को मिली। त्योहार आते ही राजबाड़ा क्षेत्र छोटी दुकानों से पट जाता है। ऐसा ही अनलॉक हुए बाजार में शनिवार को भी देखने को मिला। छोटे और सस्ते सामानों की ग्राहकी अच्छी रही, लेकिन बड़े और महंगे सामानों के व्यापारियों को ग्राहक तलाशने पड़े। शीतला माता बाजार में साड़ियों और सूट की ग्राहकी निकलने लगी है, लेकिन व्यापारियों का कहना है कि आगे बाजार पूरी तरह अनलॉक होगा, तभी आर्थिक स्थिति पटरी पर आ सकेगी।-newsindialive.in