राजनांदगांव: कोविड से मृत व्यक्तियों के शव को कचरा फेंकने वाले वाहन से ले जाया जा रहा

राजनांदगांव: कोविड से मृत व्यक्तियों के शव को कचरा फेंकने वाले वाहन से ले जाया जा रहा
rajnandgaon-the-bodies-of-dead-persons-are-being-transported-from-the-vehicle-throwing-garbage-from-kovid

राजनांदगांव, 15 अप्रैल (हि.स.)। जिले के डोंगरगांव ब्लॉक से दिल दहला देने वाली तस्वीरे सामने आई है, जहां कोविड से मृत व्यक्तियों के शव को नगर पंचायत के कचरा फेंकने वाले वाहन से ले जाया जा रहा था। सीएमएचओ डॉ. मिथलेश चौधरी से पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि नगर पंचायत के कचरा फेंकने वाले वाहन पर शवों को भेजना नगर पंचायत की व्यवस्था है। राजनांदगांव जिला मुख्यालय से महज 25 किलोमीटर दूर डोंगरगांव कोविड केयर सेंटर में दो सगी बहनों सहित तीन लोगों की मौत कोविड पॉजिटिव के कारण भर्ती रहने पर पर्याप्त ऑक्सीजन नहीं मिलने के कारण हुई। वही डोंगरगांव के ही सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में एक और व्यक्ति की ऑक्सीजन नहीं मिलने के कारण मौत हुई। वह भी कोविड पॉजिटिव था। कुल 4 लोगों की मौत की खबर से समूचा डोंगरगांव ब्लॉक सहम गया। वहीं मृतक शवों को नगर पंचायत के कचरा फेंकने वाले वाहन से ले जाया गया। डोंगरगांव सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की बीएमओ ने अपने आप को अपने की घर में होम आइसोलेट कर लिया और जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ा, जबकि बीएमओ की कोविड रिपोर्ट नेगेटिव आई थी। पूरे मामले में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने इस बात की पुष्टि की है कि कोविड के मरीजों का ऑक्सीजन लेवल बहुत कम था। साथ ही दो सगी बहनों सहित 3 लोगों की मौत कोविड केयर सेंटर में हुई है जबकि चौथी मौत की जानकारी नहीं होने की बात कही। बीएमओ के होमआसोलेट होने पर कहा कि बीएमओ का एचबी 7 ग्राम होने के कारण वह घर पर ही हैं। हिन्दुस्थान समाचार /मनोज चंदेल