राजस्थान हाईकोर्ट ने बीजेपी विधायक मदन दिलावर की बसपा के 6 विधायकों के कांग्रेस में विलय के खिलाफ दर्ज याचिका खारिज की
राजस्थान हाईकोर्ट ने बीजेपी विधायक मदन दिलावर की बसपा के 6 विधायकों के कांग्रेस में विलय के खिलाफ दर्ज याचिका खारिज की
देश

राजस्थान हाईकोर्ट ने बीजेपी विधायक मदन दिलावर की बसपा के 6 विधायकों के कांग्रेस में विलय के खिलाफ दर्ज याचिका खारिज की

news

राजस्थान में सियासी संग्राम के बीच राजस्थान हाईकोर्ट ने बीजेपी विधायक मदन दिलावर को झटका दिया। हाईकोर्ट में सोमवार को बसपा के 6 विधायकों के कांग्रेस में विलय के खिलाफ भाजपा की याचिका पर सुनवाई होनी थी। हाईकोर्ट ने मदन दिलावर की उस याचिका को सारहीन मानते हुए खारिज कर दिया है। कोर्ट ने कहा कि विधानसभा अध्यक्ष मामले में 24 जुलाई को ही आदेश पारित कर चुके हैं, इसलिए याचिका के कोई औचित्य नहीं है। दरअसल भाजपा विधायक मदन दिलावर ने याचिका दायर कर कहा था कि बीएसपी के 6 विधायकों को अवैधानिक रूप से कांग्रेस में विलय कर लिया गया। विधायकों की सदस्यता समाप्त करने को लेकर उन्होंने विधानसभा स्पीकर के सामने याचिका लगाई थी, लेकिन विधानसभा अध्यक्ष पिछले 4 महीने से उनकी याचिका पर किसी तरह की कोई कार्रवाई नहीं की। दिलावर ने कोर्ट में दायर याचिका में विधानसभा स्पीकर के अलावा सचिव और बसपा के 6 विधायकों को भी पार्टी बनाया गया था। बसपा ने भी हाईकोर्ट में अर्जी देकर भाजपा विधायक दिलावर की याचिका में पक्षकार बनाए जाने की मांग थी। कोर्ट का मानना था कि जब याचिका ही खारिज कर दी, तब पक्षकार बनने का मतलब ही नहीं है। दिलावर के वकील आशीष शर्मा ने बताया कि बसपा एमएलए करौली से लखन सिंह, उदयपुरवाटी से राजेन्द्र सिंह गुढ़ा, किशनगढ़ बास से दीपचंद खेड़िया, नदबई से जोगेन्दर सिंह अवाना, तिजारा से संदीप कुमार और नगर भरतपुर से वाजिब अली के कांग्रेस में विलय होने के खिलाफ 16 मार्च को स्पीकर से शिकायत कर इन 6 विधायकों को दलबदल कानून के तहत विधानसभा की सदस्यता से अयोग्य घोषित करने की अपील की थी। लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। 17 जुलाई को हमने रिमाइंडर भी दिया, लेकिन स्पीकर ने बिना अर्जी सुने ठुकरा दी। वहीं, पायलट गुट के खिलाफ याचिका पर तुरंत कार्रवाई कर दी गई।-newsindialive.in