राजस्थान: मार्च के 11 दिनों में ही दोगुने हो गए कोरोना के नए मरीज

राजस्थान: मार्च के 11 दिनों में ही दोगुने हो गए कोरोना के नए मरीज
rajasthan-corona-patients-doubled-in-11-days-of-march

जयपुर, 20 मार्च (हि.स.) । राजस्थान में कोरोना महामारी का संक्रमण इस महीने के 11 दिनों में ही बढ़कर दोगुना हो गया है। प्रदेश में 11 मार्च को कोरोना के नए मरीज 203 के आंकड़े पर था लेकिन 20 मार्च को यह आंकड़ा 445 तक पहुंच गया है। जिस रफ्तार से कोरोना बढ़ रहा है, उसे अगर समय रहते काबू नहीं किया तो इस माह के अंत तक मई 2020 जैसी स्थितियां बन सकती हैं। मास्क पहनने और दो गज की दूरी सरीखे नियमों का पालन नहीं करने जैसी लापरवाही के कारण मार्च में कोरोना केसेज का ग्राफ तेजी से बढ़ा है। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी किए जाने वाले आंकड़ों को आधार मानें तो फरवरी के शुरुआती 15 दिनों तक पूरे प्रदेश में रोजाना कोरोना के 100 पॉजिटिव भी नहीं मिल रहे थे, लेकिन दूसरे सप्ताह से ये मामले बढ़नेलगे। आंकड़ा 100 से ज्यादा होने लगा। मार्च में ये मामले बहुत तेजी से बढ़े। अब आंकड़ा 400 केस प्रतिदिन तक पहुंच गया हैं। राहत सिर्फ इतनी है कि संक्रमण से होने वाली मौतों पर काफी हद तक अंकुश लग गया है। अकेले मार्च में 7 से 13 तारीख तक 1363 और 14 से 19 मार्च तक 1784 नए पॉजिटिव बढ़ चुके हैं। पिछले साल जब मार्च में कोरोना के मरीज आना शुरू हुए थे तब लॉकडाउन लगाया गया था। उस दौरान अप्रैल और फिर मई में तेजी से मरीजों की संख्या बढ़ी। इस साल अब फरवरी के मुकाबले मार्च में कोरोना के मामलों की संख्या दोगुनी हो रही है। फरवरी में पूरे माह 2845 नए केस मिले थे, जबकि मार्च के 19 दिनों में ही 4167 केस आ चुके हैं। पिछले साल अप्रैल में 2584, मई में 6247, जून में 8829, जुलाई में 24 हजार 423, अगस्त में 38 हजार 789, सितम्बर में 54 हजार 420, अक्टूबर में 61 हजार 641, नवंबर में 71 हजार 130, दिसंबर में 40 हजार 180 नए पॉजिटिव मिले थे। माना जा रहा है कि राज्य में कोरोना के आंकड़े बढ़नेके पीछे आमजन की लापरवाही है। फरवरी से शुरू हुई विधानसभा के दौरान बड़ी संख्या में जयपुर सहित अन्य शहरों में धरने-प्रदर्शन हुए। अनलॉक की प्रक्रिया शुरू होने के बाद रोजगार पटरी पर लाने के लिए सरकार ने कई रियायतें दी लेकिन आमजन बेपरवाह रहा। इसका नतीजा कोरोना के केस दोबारा बढ़ने लगे। हिन्दुस्थान समाचार/रोहित/संदीप