रायपुर: डॉ रमन सिंह और संबित पात्रा ने खटखटाया हाईकोर्ट का दरवाजा, एफआईआर रद्द करने की मांग

रायपुर: डॉ रमन सिंह और संबित पात्रा ने खटखटाया हाईकोर्ट का दरवाजा, एफआईआर रद्द करने की मांग
raipur-dr-raman-singh-and-sambit-patra-approached-the-high-court-demanding-cancellation-of-fir

रायपुर, 08 जून (हि.स.)। टूलकिट मामले में पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ.रमन सिंह प्रवक्ता संबित पात्रा ने बिलासपुर हाई कोर्ट में आज अलग -अलग याचिका दायर की है। उन्होंने अपनी याचिका में उनके खिलाफ टूलकिट मामले को लेकर थाने में दर्ज रिपोर्ट को रद्द किये जाने की मांग की है। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह और भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा के विरुद्ध राजधानी के सिविल लाइंस थाने में टूल किट को लेकर रिपोर्ट दर्ज की गई है। डॉ रमन सिंह और संबित पात्रा दोनों की ओर से पृथक याचिका अधिवक्ता विवेक शर्मा ने पेश की हैं। याचिका में हाईकोर्ट से यह कहा गया है कि जिस टूल किट को लेकर रिपोर्ट दर्ज की गई है, वह सार्वजनिक डोमेन में उपलब्ध था और याचिकाकर्ताओं ने पब्लिक डोमेन में मौजूद उस डिजिटल अभिलेख पर टिप्पणी की है। इसलिए उनके विरुद्ध कोई अभियोग नहीं बनता। इस याचिका पर सुनवाई जस्टिस नरेंद्र व्यास कर सकते हैं। इन याचिकाओं पर सुनवाई की तिथि अभी तय नहीं की गई है । पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने 18 मई को अपने ट्विटर अकाउंट से कांग्रेस का कथित लेटर पोस्ट करते हुए दावा किया था कि इसमें देश का माहौल खराब करने की तैयारी की प्लानिंग लिखी है। साथ ही लिखा गया कि विदेशी मीडिया में देश को बदनाम करने दुष्प्रचार और जलती लाशों की फोटो दिखाने का कांग्रेस षड्यंत्र कर रही है। ऐसा ही पोस्ट संबित पात्रा ने भी किया था। इसके बाद युवा कांग्रेस के नेताओं ने 19 मई को डा. रमन सिंह व संबित पात्रा पर एफआईआर दर्ज करा दी। हिन्दुस्थान समाचार /केशव शर्मा