रेलवे कर्मचारी घर बैठे ले सकेंगे ऑनलाइन चिकित्सा परामर्श

रेलवे कर्मचारी घर बैठे ले सकेंगे ऑनलाइन चिकित्सा परामर्श
railway-employees-will-be-able-to-get-online-medical-consultation-from-home

-कोरोना के मद्देनजर टेलीकंसल्टेशन ऐप, कोविड पोर्टल और रोगी मोबाइल ऐप किया विकसित - उत्तर, दक्षिण-मध्य और पूर्वोत्तर रेलवे में उपलब्ध है अस्पताल प्रबंधन सूचना प्रणाली नई दिल्ली, 22 मई (हि.स.)। रेलवे कर्मचारी और उनके परिवार के सदस्य अब सामान्य बीमारियों के लिए घर बैठे ऑनलाइन चिकित्सा परामर्श ले सकेंगे। कोरोना के मद्देनजर उत्तर रेलवे के अस्पतालों व स्वास्थ्य इकाइयों में सामान्य बीमारियों के उपचार के लिए लोगों की भीड़ कम करने के लिए टेलीकंसल्टेशन ऐप विकसित किया है। इसके अलावा एक कोविड पोर्टल और एक मोबाइल ऐप भी तैयार किया गया है। कोरोना की दूसरी लहर के चलते छोटी-मोटी बीमारियों के मरीजों को चेकअप के लिए अस्पतालों में जाना मुश्किल हो रहा है। साथ ही, कई बीमारियों, हल्के कोविड मामले और पोस्ट कोविड उपचार के लिए नियमित अनुवर्ती कार्रवाई की भी आवश्यकता होती है। टेलीकंसल्टेशन ऐप ‘एम-कंसल्टेंसी’ रेलवे अस्पताल प्रबंधन सूचना प्रणाली (एचएमआईएस) परियोजना के अंतर्गत विकसित और एकीकृत किया गया है। यह ऐप उत्तर रेलवे के सेंट्रल और डिवीजनल अस्पताल, दिल्ली क्षेत्र की 13 स्वास्थ्य इकाइयों के लिए उपलब्ध है। ऐप को प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है। एम-कंसल्टेंसी के अलावा रेलटेल ने चिकित्सा लाभार्थियों के लिए एक कोविड पोर्टल और एक मोबाइल ऐप भी विकसित किया है। कोविड पोर्टल इलाज की बेहतर निगरानी के लिए कोविड रोगियों (परीक्षण, उपचार की लाइन, वर्तमान स्थिति आदि) से संबंधित सभी डेटा को कैप्चर और रखरखाव करता है। रोगी मोबाइल ऐप चिकित्सा लाभार्थियों को एक ही स्थान पर अपने मेडिकल रिकॉर्ड तक पहुंचने में सक्षम बनाता है। अस्पताल प्रबंधन सूचना प्रणाली (एचएमआईएस) एक एकीकृत नैदानिक सूचना प्रणाली है जिसे बेहतर अस्पताल प्रशासन और रोगी स्वास्थ्य देखभाल के लिए पूरे भारत में 125 रेलवे स्वास्थ्य सुविधाओं और 650 पॉलीक्लिनिक में क्रियान्वित किया जाना है। एचएमआईएस का उद्देश्य अस्पतालों के कामकाज में तेजी लाने और बिना किसी बाधा के सेवा उपलब्ध कराने के लिए डिजिटल बनाना है। रेलटेल के सीएमडी पुनीत चावला ने शनिवार को कहा, “महामारी की स्थिति को देखते हुए, इस ऐप को युद्ध स्तर पर चल रही अस्पताल प्रबंधन सूचना प्रणाली (एचएमआईएस) परियोजना के साथ विकसित और एकीकृत किया गया है। रेलवे अस्पताल प्रबंधन सूचना प्रणाली (एचएमआईएस) ऐप मरीजों को कोविड के जोखिम से बचाने के लिए अस्पताल जाए बिना इलाज कराने में मदद करेगा। कोविड पोर्टल डॉक्टरों को डैशबोर्ड पर आसानी से उपलब्ध सभी डेटा और रोगी संबंधी सूचना के साथ-साथ उपचार की प्रगति की निगरानी करने में मदद करेगा और अस्पताल प्रबंधन सूचना प्रणाली (एचएमआईएस) के लिए मोबाइल ऐप किसी भी समय तत्काब संदर्भ के लिए रोगियों के सभी डेटा को संग्रहीत करेगा। उन्होंने कहा कि उत्तर रेलवे के अलावा, अस्पताल प्रबंधन सूचना प्रणाली (एचएमआईएस) वर्तमान में दक्षिण-मध्य रेलवे के 5 अस्पतालों और पूर्वोत्तर रेलवे की 1 स्वास्थ्य इकाई में क्रियान्वित है। अन्य अस्पतालों में कार्य प्रगति पर है और यह कार्य वित्त वर्ष 21-22 में पूरा हो जाएगा। हिन्दुस्थान समाचार/सुशील

अन्य खबरें

No stories found.