राहुल ने की महबूब मुफ़्ती की रिहाई की मांग, कहा- केंद्र कर रहा शक्ति का दुरुपयोग
राहुल ने की महबूब मुफ़्ती की रिहाई की मांग, कहा- केंद्र कर रहा शक्ति का दुरुपयोग
देश

राहुल ने की महबूब मुफ़्ती की रिहाई की मांग, कहा- केंद्र कर रहा शक्ति का दुरुपयोग

news

नई दिल्ली, 02 अगस्त (हि.स.)। पब्लिक सेफ्टी एक्ट (पीएसए) के तहत जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री मेहबूबा मुफ़्ती की नजरबन्दी को लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने केंद्र की मोदी सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि महबूबा मुफ्ती की नजरबंदी एक नागरिक के संवैधानिक अधिकारों का हनन है। उन्होंने जम्मू एंड कश्मीर पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की नेता महबूबा मुफ्ती की रिहाई की मांग की है। राहुल गांधी ने रविवार को ट्वीट कर महबूबा मुफ़्ती की मांग उठाई। उन्होंने कहा, 'भारत का लोकतंत्र तब क्षतिग्रस्त हो गया जब भारत सरकार गैरकानूनी रूप से राजनीतिक नेताओं को बंदी बना रही थी। यह सही समय है जब महबूबा मुफ्ती को रिहा किया जाए।' राहुल ने केंद्र की मोदी सरकार पर प्रशानिक तंत्र का दुरुपयोग करने का आरोप भी लगाया। इससे पहले, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम ने भी मोदी सरकार को निशाने पर लेते हुए कहा कि महबूबा मुफ्ती की नजरबंदी बढ़ाया जाना कानून का दुरुपयोग है। उन्होंने पूछा था कि 61 वर्षीय पूर्व मुख्यमंत्री, जो चौबीसों घंटे सुरक्षा गार्ड से संरक्षित हैं वो सार्वजनिक सुरक्षा के लिए खतरा कैसे है? वही पूर्व सीएम की नजरबन्दी के लिए दिए कारण को हास्यास्पद बताते हुए कहा कि पार्टी के झंडे के रंग को लेकर कार्रवाई की गई, जो गलत है। हिन्दुस्थान समाचार/आकाश/सुनीत-hindusthansamachar.in