जांच होने और राफेल डील का सच भी आ जायेगा सामने : कांग्रेस
जांच होने और राफेल डील का सच भी आ जायेगा सामने : कांग्रेस
देश

जांच होने और राफेल डील का सच भी आ जायेगा सामने : कांग्रेस

news

नई दिल्ली, 31 जुलाई (हि.स.)। राफेल डील को लेकर कांग्रेस ने एक बार फिर मोदी सरकार को घेरने की कोशिश की है। कांग्रेस नेता जयवीर शेरगिल ने ऑपरेशन 'वेस्ट एंड' का जिक्र करते हुए कहा कि जब राफेल डील की जांच होगी तो सत्य देश के सामने आ जाएगा। कांग्रेस प्रवक्ता जयवीर शेरगिल ने शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के जरिये पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि रफेल की जो डील हुई है, वह देश की सुरक्षा के लिए नहीं, बल्कि जेब की सुरक्षा के लिए है। उन्होंने केंद्र की मोदी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा जिस तरह वेस्ट एंड मामले में कोर्ट के ज़रिए सत्य देश के सामने आया है। ऐसे ही जब राफ़ेल मामले की जांच होगी तो देश इस सच को भी जान जाएगा। कांग्रेस नेता ने कहा कि इस देश के रक्षा समझौतों पर सरकार को पारदर्शिता बरतते हुए कानून का पालन करना चाहिए। इस दौरान ऑपरेशन 'वेस्ट एंड' का हवाला देते हुए शेरगिल ने कहा कि वर्ष 2001 में भी एक रक्षा समझौता हुआ था, जिसमें हुई गड़बड़ी का पर्दाफाश हुआ। तब भाजपा के पूर्व अध्यक्ष बंगारू लक्ष्मण अपने ही दफ्तर में रिश्वत लेते कैमरे पर पकड़े गए थे। इसे ऑपरेशन 'वेस्ट एंड' जजमेंट-1 नाम दिया गया था। अब ऑपरेशन 'वेस्ट एंड' जजमेंट-2 आया है, जहां जया जेटली और उनके साथियों को रक्षामंत्री के घर में बैठकर रिश्वत लेने और डील करवाने के चक्कर में सज़ा हुई। इससे स्पष्ट है कि रक्षा सौदों में भाजपा की क्या भूमिका रही है। इस दौरान कांग्रेस ने केंद्र सरकार से तीन सवाल भी पूछे हैं। मुख्य विपक्षी पार्टी ने पूछा है कि जो समझौते हुए वो देश बनाओ की नीति से हुए या पैसा बनाओ की नीति से। दूसरा, क्या सरकार राष्ट्रीय सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए डील कर रही है या अपनी जेब की सुरक्षा पर ध्यान रखते हुए? तीसरा, सरकार कानूनी रूप से काम कर रही है या सिफारशी तौर पर? हिन्दुस्थान समाचार/आकाश/बच्चन-hindusthansamachar.in