पंजाब : गैंगस्टर जयपाल और उसके साथियों ने की थी दो एसआई की हत्या

पंजाब : गैंगस्टर जयपाल और उसके साथियों ने की थी दो एसआई की हत्या
punjab-two-sis-were-murdered-by-gangster-jaipal-and-his-associates

-गैंगस्टर और उसके साथियों ने किया था पुलिस टीम पर हमला, पुलिस ने जारी किए इश्तिहार -हमलावरों के खिलाफ हत्या, आर्म एक्ट, जानलेवा हमला व विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज लुधियाना, 16 मई (हि.स.)। जिले के जगराओं क्षेत्र में छापामारी करने गए एसआई दलविंदर सिंह और भगवान सिंह की टीम हमला कर जान लेने वाला कोई और नहीं था बल्कि गैंगस्टर जयपाल और उसके साथी थे। पकड़े जाने के डर से शनिवार को गैंगस्टर जयपाल और उसके साथियों ने पुलिस टीम पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी थी, जिसमें एसआई दलविंदर सिंह और भगवान सिंह की मौत हो गयी थी जबकि होमगार्ड का जवान राजविंदर सिंह बुरी तरह जख्मी हो गया था। पुलिस ने इनकी पहचान होने पर गैंगस्टर जयपाल और उसके साथियों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज करने के साथ पोस्टर जारी कर जांच शुरू कर दी है। जानकारी के अनुसार पुलिस ने आरोपितों की पहचान फिरोजपुर के रहने वाले जयपाल भुल्लर, मोगा के रहने वाले बलजिंदर सिंह उर्फ बब्बी, खरड़ के रहने वाले जसप्रीत सिंह व लुधियाना के दर्शन सिंह के रूप में की है। पुलिस के अनुसार जयपाल गैंगस्टर है, उस पर विभिन्न धाराओं में कई संगीन मामले दर्ज हैं। उसके साथियों पर भी बहुत से मुकदमे हैं। पुलिस ने पहचान होने के बाद गैंगस्टर जयपाल और उसके साथियों पर वाटेंड के इश्तिहार भी जारी कर दिए हैं। पुलिस ने इन आरोपितों के खिलाफ जख्मी हुए होमगार्ड राजविंदर के बयान पर आईपीसी की धारा 302, 307, 397, 353, 186, 34 आर्मएक्ट के तहत मामला दर्ज किया है। उल्लेखनीय है कि शनिवार को करीब 6 बजे सीआईए में तैनात एएसआई दलविंदर सिंह और भगवान सिंह व होमगार्ड के जवान तस्करी का इनपुट मिलने पर नई दाना मंडी में छापामारी करने गए थे। उन्हें सूचना मिली थी कि नशे की बड़ी खेप की सप्लाई करने के लिए तस्कर आ रहे हैं लेकिन मौके पर आरोपितों ने पुलिस टीम पर फायरिंग कर दी और मौके से फरार हो गए। हालांकि हमलावर नशा तस्कर नहीं थे बल्कि नामी-गिरामी बदमाश हैं। जख्मी हुए होमगार्ड के जवान ने पुलिस को दिए बयान में बताया कि सूचना के आधार पर जब वह नई दाना मंडी में पहुंचे तो वहां पर एक सफेद रंग की कार कैंटर के साथ खड़ी थी। कार में सवार दो नौजवान नीचे उतरकर एक लाल रंग का सूटकेस निकाल कर कैंटर में बैठे हुए लोगों को पकड़ा रहे थे। शक होने पर पुलिस अफसरों ने कैंटर में बैठे लोगों से पूछताछ करनी शुरू की। अफसरों ने उन लोगों को अपने पहचान पत्र दिखाने के लिए कहा लेकिन इस दौरान ही एएसआई भगवान सिंह ने जयपाल को पहचाने पर दूसरे एएसआई को कहा कि यह तो जयपाल है। यह सुनते ही कैंटर से नीचे उतरे नौजवान ने अपने दूसरे साथी को कहा कि बब्बी इनको पकड़ लो। सुनते ही दूसरे युवक ने भगवान सिंह को पकड़ लिया और युवक ने अपना पिस्तौल निकाल कर उस पर फायरिंग कर दी। गोली भगवान सिंह की गर्दन में लगी और वह वहीं पर गिर गये। इतनी देर में कैंटर की ड्राइविंग सीट पर बैठे युवक ने भी नीचे उतर कर अपना पिस्तौल निकाला और दलविंदर की तरफ तान दी। वह अपने बचाव के लिए भागने लगे तो युवक ने उस पर फायरिंग कर दी। जख्मी होने के कारण वह भी वहीं पर गिर गये। जब होमगार्ड जवान राजविंदर सिंह खुद के बचाव के लिए भागने लगा तो युवकों ने उस पर भी फायर कर दिया, जिस कारण वह भी जख्मी हो गया। हमलावरों ने कैंटरों से कुछ सामान और सूटकेस उतार कर अपनी कार में रखा और वहां से फरार हो गए। इस दौरान हमलवरों ने निकट ही क्रिकेट खेल रहे बच्चों की तरफ भी फायरिंग की। बताया जाता है कि आरोपित भागते हुए भी फायरिंग करते रहे ताकि कोई पीछा न कर सके। आशंका यह भी जताई जा रही है कि कुछ दिन पहले दोराहा के निकट हुए कांड, जिसमें कार सवारों ने पुलिस से हथियार छीने थे, के मामले में भी गैंगस्टर जयपाल का ही हाथ है। एसएसपी ग्रामीण,जगराओं चरनजीत सिंह सोहल ने बताया कि आरोपितों को पकड़ने के लिए टीमें गठित की गई हैं, जो कि लगातार उनके ठिकानों पर छापामारी कर रही हैं। पुलिस को कुछ इनपुट भी मिले हैं, जिन्हें लेकर पुलिस कार्रवाई कर रही है। हिन्दुस्थान समाचार/ कुमार/ संजीव/रामानुज

अन्य खबरें

No stories found.