एलडीएफ के कुशासन से तंग है जनता: अमित शाह (लीड 1)

एलडीएफ के कुशासन से तंग है जनता: अमित शाह (लीड 1)
public-is-fed-up-with-ldf-misrule-amit-shah-lead-1

तिरुवनंतपुरम/नई दिल्ली, 24 मार्च (हि.स)। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता व केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि केरल के लोग लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट (एलडीएफ) सरकार के भ्रष्टाचार और कुशासन से तंग आ चुके हैं। बुधवार को केरल यात्रा के दौरान शाह ने त्रिपुनिथुरा और मालमपुझा में दो रोड-शो किया, जबकि कंजिरापल्ली व चैतनूर में जनसभाएं की। केरल के कंजिरापल्ली में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा कि केरल एक जमाने में विकास और पर्यटन के मॉडल के रूप में जाना जाता था। इसकी पहचान सबसे शिक्षित और शांतिप्रिय राज्य के रूप में थी। लेकिन एलडीएफ और यूडीएफ ने केरल को भ्रष्टाचार का अड्डा बना दिया है। कंजिरापल्ली में जनसभा से पहले उन्होंने त्रिपुनिथुरा में रोड शो किया, जिसकी तस्वीर अपने ट्वीटर अकाउंट से साझा की। ट्वीट के जरिए यह भी कहा कि केरल के लोग एलडीएफ सरकार के भ्रष्टाचार और कुशासन से तंग आ चुके हैं। रोड शो के दौरान अमित शाह ने कहा कि यहां की सरकार से केरल की जनता परेशान है। वह भारतीय जनता पार्टी को विकल्प के रूप में देख रही है और हम अच्छी बढ़त के साथ केरल के चुनाव में परफॉर्म कर रहे हैं। कांग्रेस को निशाने पर लेते हुए शाह ने कहा कि कांग्रेस पार्टी कन्फ्यूज है। यहां वो कम्युनिस्टों के खिलाफ लड़ रहे हैं। बंगाल में उनके साथ लड़ रहे हैं। नेतृत्व भी कन्फ्यूज है और पार्टी भी। वहीं कंजिरापल्ली में जनसभा के दौरान शाह ने कहा कि एलडीएफ सरकार ने पूरे प्रशासन को अपनी कैडर में बदलने का काम किया है। लेफ्ट पार्टियां अपनी पार्टी के कैडर को सरकारी पद दिलाने के लिए राज्य लोक सेवा आयोग को रिमोट कंट्रोल से चलाती हैं। यही कारण रहा कि पीएसी में अच्छी रैंक प्राप्त करने के बावजूद नौकरी नहीं मिलने से एक छात्र ने आत्महत्या कर ली! सवालिया अंदाज में अमित शाह ने पूछा कि 'ऐसे मुख्यमंत्री को फिर से चुनने का क्या मतलब है? शाह ने कहा कि केरल की जनता को मैं यह कहता हूं कि जिस राज्य के मुख्यमंत्री कार्यालय, उनके प्रधान सचिव, प्रधान सचिव द्वारा प्रमोट की गई महिला, तस्करी में शामिल हों उस मुख्यमंत्री को फिर से चुनने का क्या मतलब है? सफाई देते हुए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि कुछ पत्रकारों ने कहा कि केरल के मुख्यमंत्री करते हैं कि ईडी भेदभाव के साथ जांच कर रही है। क्या, गोल्ड स्कैम का मुख्य आरोपी आपके कार्यालय में काम नहीं करते था? आपकी सरकार ने मुख्य आरोपी को तीन लाख रुपये का मासिक वेतन दिया था या नहीं? केरल के विकास कार्य का जिक्र करते हुए अमित शाह ने कहा कि अमृत योजना के तहत 1100 करोड़ रुपये की लागत से शहरों को अपग्रेड करने का काम चल रहा है। जबकि नरेन्द्र मोदी सरकार ने नेशनल हाईवे के लिए 65,000 करोड़ रुपये केरल को दिए गए हैं। आगे उन्होंने कहा कि कोच्चि मेट्रो के विकास कार्य के लिए 1,957 करोड़ रुपये केंद्र सरकार की ओर से भेजे गए हैं। इसके साथ-साथ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने केरल के लिए 2,000 मेगावाट एचवीडीसी का उद्घाटन किया है। आत्मनिर्भर भारत की चर्चा करते हुए अमित शाह ने कहा कि इस परियोजना में उपयोग किए जा रहे सभी घटक स्वदेशी हैं। निश्चय ही आत्मनिर्भर भारत का इससे बेहतर उदाहरण नहीं हो सकता। इस दौरान उन्होंने कासरगोड में 50 मेगावाट क्षमता की एक अन्य सौर योजना की चर्चा की, जिसे केंद्रीय सरकार ने विकसित किया है। अपनी केरल यात्रा के दौरान शाह ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री पर भी निशाना साधा। हिन्दुस्थान समाचार/ब्रजेश

अन्य खबरें

No stories found.