priyanka-met-family-of-navrita-who-lost-her-life-in-tractor-parade-said-martyrdom-will-not-go-in-vain
priyanka-met-family-of-navrita-who-lost-her-life-in-tractor-parade-said-martyrdom-will-not-go-in-vain
देश

ट्रैक्टर परेड में जान गंवाने वाले नवरीत के परिजनों से मिलीं प्रियंका, कहा-व्यर्थ नहीं जाएगी शहादत

news

- कांग्रेस किसानों के साथ, तीनों कृषि कानून वापस नहीं होने तक लड़ाई रहेगी जारी रामपुर, 04 फरवरी (हि.स.)। कांग्रेस महासचिव व उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने 26 जनवरी को दिल्ली में ट्रैक्टर पलटने से जान गंवाने वाले नवरीत सिंह के परिजनों से गुरुवार को यहां मुलाकात की। प्रियंका नवरीत के पैतृक गांव डिबडिबा पहुंचकर उसकी अन्तिम अरदास की रस्म में शामिल हुईं। इस दौरान उन्होंने मृतक के परिजनों से मुलाकात करके उनके प्रति सहानुभूति प्रकट की और नवरीत की शहादत व्यर्थ नहीं जान की बात कही। उन्होंने कहा कि तीनों नये कृषि कानून वापस नहीं होने तक लड़ाई जारी रहेगी। प्रियंका वाड्रा ने कहा कि हम यहां शहीद नवरीत की याद में आए हैं। मुझे अपने अनुभव से मालूम है कि यह शहीद हैं और उनकी शहादत को कभी भुला नहीं सकते। प्रियंका ने कहा कि नवरीत 25 साल के थे। मेरा बेटा 20 साल का है। आपके भी नौजवान बेटे होंगे लेकिन नवरीत के साथ ऐसा हादसा हुआ कि वह वापस नहीं आए। वह क्यों गए थे, वहां कोई राजनीतिक साजिश नहीं थी, वह इसलिए गए थे, क्योंकि उनके दिल में दुःख था एक पीड़ा थी। उन्हें मालूम था कि किसानों पर जुल्म हो रहा है। कांग्रेस महासचिव ने कहा कि गुरु गोविंद सिंह जी ने कहा है कि जुल्म करना पाप है और जुल्म सहना उससे भी बड़ा पाप है। एक नौजवान बच्चा दिल्ली से इतना दूर आन्दोलन में शामिल होने के लिए पहुंचा। यह उम्मीद रखते हुए कि सभी एकत्रित होंगे तो सरकार उनकी बात सुनेगी और उनकी सुनवाई करेगी, लेकिन, ऐसा नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि किसानों के साथ बहुत बड़ा जुल्म हो रहा। लेकिन, इससे भी बड़ा जुल्म तब होता है जब वे शहीदों को आतंकवादी कहते हैं। इस आन्दोलन को एक राजनीतिक साजिश की शक्ल में देखते हैं। यह बहुत बड़ा जुल्म है। प्रियंका ने कहा कि देश के किसान का दर्द अगर कोई सरकार नहीं देख सकती है तो वह सरकार किस काम की। नेता तो ऐसा हो जो यह कहे कि तुम्हारा दर्द मेरा दर्द है। आओ मैं तुम्हारी बात सुन लूंगा, लेकिन, ऐसा नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि यह मौका नहीं है राजनीतिक बात करने का, मैं यहां यह कहने आई हूं कि परिवार के दुःख में शरीक हूं और इस शहादत को व्यर्थ नहीं जाने देंगे। मैं इस परिवार को कहना चाहती हूं आप अकेले नहीं हैं। देशवासी आप के साथ खड़े हैं, हम खड़े हैं। आपके पोते की शहादत व्यर्थ नहीं होने देंगे। तब तक लड़ाई जारी रखेंगे जब तक तीनों कृषि कानून वापस न हो जाएं। प्रियंका गांधी ने मंच से सत श्री अकाल का नारा लगाया और ’वाहे गुरु जी की फतह... वाहे गुरुजी का खालसा’ कहकर अपनी बात समाप्त की। इस मौके पर उत्तर प्रदेश के नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी ने कहा कि समाजवादी पार्टी किसानों के आन्दोलन में हर कदम पर साथ है। राष्ट्रीय लोक दल के उपाध्यक्ष जयंत चौधरी ने भी किसान आन्दोलन का साथ देने की बात की। उल्लेखनीय है कि दिल्ली में नए कृषि कानूनों के खिलाफ 26 जनवरी को ट्रैक्टर परेड में शामिल 27 वर्षीय नवरीत का ट्रैक्टर दिल्ली पुलिस की बैरिकेड से टकराने के बाद पलट गया था। इस हादसे में नवरीत की मौत हो गई थी। इससे पहले रामपुर पहुंचते वक्त रास्ते में हापुड़ जिले में प्रियंका के काफिले में शामिल तीन वाहन दुर्घटनावश एक-दूसरे से टकरा गये थे। प्रदेश कांग्रेस मीडिया संयोजक ललन कुमार ने बताया कि गजरौला के पास हुए इस हादसे में कोई हताहत नहीं हुआ। उन्होंने बताया कि घटना में कुछ वाहन क्षतिग्रस्त हुए, मगर थोड़ी ही देर के बाद प्रियंका आगे रवाना हो गईं। इस दौरान प्रियंका गांधी का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल भी हुआ। वीडियो में रामपुर जा रही प्रियंका गांधी खुद ही अपने कार का शीशा साफ करते दिखाई दीं। प्रियंका जैसे ही विंडस्क्रीन साफ करना शुरू करती हैं, वैसे ही उनके साथ जा रहे पार्टी के कई पदाधिकारी उनसे डस्टर हाथ में लेकर खुद शीशा साफ करने लगते हैं। फिर भी प्रियंका दूसरा डस्टर लेकर विंडस्क्रीन साफ करना जारी रखती हैं। सोशल मीडिया में प्रियंका का यह वीडियो सामने आने के बाद कई लोगों ने उनकी तारीफ की तो लोगों ने इसे दिखावा करार दिया। हिन्दुस्थान समाचार/संजय/सुनीत-hindusthansamachar.in