महामारी को लेकर प्रियंका गांधी ने लिखा भावुक पोस्ट, कहा- ‘हम होंगे कामयाब’

महामारी को लेकर प्रियंका गांधी ने लिखा भावुक पोस्ट, कहा- ‘हम होंगे कामयाब’
priyanka-gandhi-wrote-an-emotional-post-about-the-epidemic-said---39we-will-succeed39

-कहा ‘ये जो अंधेरा चारों ओर फैला है, उसको चीरते हुए उजाला फिर उभरेगा’ आकाश राय नई दिल्ली, 28 अप्रैल (हि.स.)। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों तथा इस बीमारी की वजह से अपनों को खोने वालों को ढाढस बंधाते हुए फेसबुक पर एक भावुक पोस्ट लिखा है। अपने पोस्ट में उन्होंने कहा कि ‘ये जो अंधेरा हमारे चारों ओर फैला हुआ है, उसको चीरते हुए उजाला एक बार फिर उभरेगा।’ उन्होंने कहा कि हम कामयाब होंगे, बस हमें थोड़ा संयम और सतर्कता बरतनी है। कोविड महामारी को लेकर प्रियंका गांधी ने अपना फेसबुक अपडेट किया है। फेसबुक पोस्ट में उन्होंने लिखा है, ‘ये लाइनें लिखते वक्त मेरा दिल भरा हुआ है। मुझे पता है आपमें से कई लोगों ने अपने प्रियजनों को खोया है, कइयों के परिजन जिंदगी के साथ जद्दोजहद कर रहे हैं और कई लोग अपने घरों पर इस बीमारी से लड़ते हुए सोच रहे हैं कि आगे क्या होगा। पूरे देश में सांसों के लिए जंग चल रही है। अस्पताल में भर्ती होने और दवाओं की एक खुराक पाने के लिए पूरे देश में लोगों के अंतहीन संघर्ष जारी हैं।’ प्रियंका ने लोगों से अपील की कि इस मुश्किल घड़ी में हमें एक दूसरे का साथ देना है। हम साथ खड़े रहें और पूरा सहयोग करेंगे तो हर संकट से उबर जाएंगे। उन्होंने कहा कि इस मुश्किल घड़ी में इंसानियत का झंडा हमेशा बुलंद हुआ है। हिन्दुस्तान ने पहले भी ऐसे दर्द और पीड़ा का सामना किया है। हमने बड़े-बड़े तूफान, अकाल, सूखा, भयंकर भूकंप और बाढ़ जैसी विभीषिका को झेला है और टूटे नहीं है। आगे उन्होंने लिख है 'इस बार भी हम डटे रहेंगे और इसे मात देंगे। डॉक्टर व नर्स के साथ समाज का हर वर्ग लोगों की पीड़ा कम करने के लिए तन-मन-धन से जुटा है। अच्छाई की एक मूल भावना हम सब में हैं। असीम पीड़ा के इस दौर में अच्छाई की यह जुंबिश हमारे राष्ट्र की आत्मा और रुतबे को और मजबूत बनाएगी।' प्रियंका ने आगे लिखा, "आइए, हम एक दूसरे को और इस दुनिया को दिखा दें, करुणामयी व्यवहार और कितनी भी कठिन परिस्थितियों में कभी हार न मानना ही हमारी भारतीयता है। जिंदगी के इस मोड़ पर हम एक दूसरे की ताकत बनेंगे।" उन्होंने कहा कि ‘चौतरफा फैली मायूसी के बीच अपनी ताकत को बटोरते हुए, दूसरों को राहत देने के लिए जो कुछ भी बन पड़े वो करते हुए, थककर चूर होने के बाद भी थकान को ना कहते हुए और तमाम मुश्किलों के खिलाफ जिन्दादिली से टिके रहकर, हम जरूर कामयाब होंगे।’ उन्होंने कहा कि ‘ये जो अंधेरा हमारे चारों ओर फैला हुआ है, उसको चीरते हुए उजाला एक बार फिर उभरेगा’। हिन्दुस्थान समाचार