prime-minister-narendra-modi-inaugurates-khelo-india-winter-games-held-in-gulmarg
prime-minister-narendra-modi-inaugurates-khelo-india-winter-games-held-in-gulmarg
देश

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुलमर्ग में आयोजित खेलो इंडिया विंटर गेम्स का किया ई-उद्घाटन

news

श्रीनगर, 26 फरवरी (हि.स.)। कश्मीर घाटी के प्रसिद्ध पर्यटन स्थल गुलमर्ग में शुक्रवार को खेलो इंडिया विंटर गेम्स का आगाज हुआ। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ई-उद्घाटन के जरिए इन विंटर गेम्स का उद्घाटन किया। उद्घाटन समारोह के दौरान केंद्रीय खेल एवं युवा मामले केंद्रीय मंत्री किरण रिजिजू तथा उपराज्यपाल मनोज सिंहा सहित अन्य गणमान्य लोग मौजूद रहे। इन विंटर गेम्स में विभिन्न राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेशों के 1200 से अधिक खिलाड़ी दो मार्च तक चलने वाले खेल महोत्सव में भाग लेने आए हैं। खेलो इंडिया विंटर गेम्स का उद्घाटन करने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज खेलो इंडिया विंटर गेम्स के दूसरे संस्करण का शुभारंभ होने जा रहा है। इस अवसर पर में जम्मू-कश्मीर की जनता और देश भर से आए खिलाडियों को बहुत-बहुत शुभकामनाएं देता हूं। उन्होंने कहा कि देश के अलग-अलग हिस्सों से आए सभी खिलाड़ी एक भारत श्रेष्ठ भारत की भावना को भी मजबूत कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस विंटर गेम्स में इस बार भाग लेने वाले राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेशों की संख्या दो गुना से भी ज्यादा हुई है, यह विंटर गेम्स की तरफ देश भर में बढ़तें रूझान व बढ़ते उत्साह को प्रदशित करता है। उन्होंने कहा कि पिछली बार जम्मू-कश्मीर की टीम ने इनमें बेहतरीन प्रदर्शन किया था। उन्होंने कहा कि मुझे विश्वास है कि इस बार बाकी टीमों की तरफ से जम्मू-कश्मीर की टीम को और बेहतर चनौती भी मिलेगी और देश भर से आए खिलाड़ी जम्मू कश्मीर के खिलाडियों के कौशल को, उनके सामर्थ को देखेंगे और उनसे बहुत कुछ सीखेंगे भी। उन्होंने कहा कि मुझे यह भी भरोसा है विंटर गेम्स के अनुभव विंटर ओलम्पिकस के एम्पोरियम पर भारत के गोरव को बढ़ाने में बहुत काम आएगा। उन्होंने कहा कि गुलमर्ग में हो रहे यह खेल दिखाते हैं कि जम्मू कश्मीर-कश्मीर शांति और विकास की नई बुलंदियों को छूने के लिए कितना तत्पर है। यह विंटर गेम्स जम्मू-कश्मीर में एक नया स्पोर्टिंग इको सिस्टम विकसित करने में मदद करेंगे। उन्होंने कहा कि जम्मू और श्रीनगर में दो खेलो इंडिया सेंटर आफ एक्सीलेंस और बीस जिलों में खेलो इंडिया सेंटर्स खिलाड़ियों के लिए बहुत बड़ी सुविधाएं हैं। ऐसे सेंटर्स देश भर के हर एक जिले में खोले जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस आयोजन से जम्मू-कश्मीर के पर्यटन को भी नई उर्जा व नया उत्साह मिलने वाला है और हम यह भी देख रहे हैं कि कोरोना की वजह से जो दिक्कतें आई थी वो भी पीछे छूट रही हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि र्स्पोटस सिर्फ एक हाबी या फिर टाइम पास नहीं है। उन्होंने कहा कि र्स्पोटस आत्मविश्वास बढ़ाता है। उन्होंने कहा कि आज र्स्पोटस एक ऐसा क्षेत्र बन गया है जो आज की दूनिया में देश की छवि का भी और देश की शक्ति का भी परिचय करवाता है। उन्होंने कहा कि दुनिया के कई छोटे-छोटे देश अपने स्पोर्ट की वजह से दुनिया में अपनी पहचान बनाते हैं और पूरे देश में उत्साह व उर्जा भी देते हैं। उन्होंने कहा कि र्स्पोटस को केवल हार जीत का कम्पीटिशन नहीं कहा जा सकता। उन्होंने कहा कि र्स्पोटस का अपना एक वैशविक रूप है। उन्होंने कहा कि बीते वर्षों में देश में खेलो इंडिया से लेकर ओलंपिक तक हम एक नई दिशा के साथ आगे बढ़ रहे हैं। सरकार स्पोर्टस प्रोफेशनल की भी सेवाएं भी ले रही है। खिलाड़ियों के चयन को लेकर पारदर्शिता बरती जा रही है। इन खिलाड़ियों ने देश का सम्मान बढ़ाया है। उनका भी सम्मान किया जा रहा है। नई शिक्षा नीति में भी खेलों को भी काफी महत्व दिया गया है। अब खेल पाठ्यक्रम का अहम हिस्सा है। उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने देश भर से आए खिलाड़ियों के स्वागत में आयोजित रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों व आतिशबाजी कार्यक्रम में पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि जम्मू-कश्मीर खेल प्रतिभाओं का पावर हाउस है। खेलो इंडिया जैसे खेल महोत्सवों के आयोजन के जरिए हम स्थानीय खिलाड़ियों को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खुद को साबित करने का अवसर प्रदान कर रहे हैं। हिन्दुस्थान समाचार/बलवान/सुनीत