प्रधानमंत्री आज भोपाल में, आदिवासियों को देंगे कई सौगात

 प्रधानमंत्री आज भोपाल में, आदिवासियों को देंगे कई सौगात
prime-minister-in-bhopal-today-will-give-many-gifts-to-the-tribals

भोपाल, 15 नवंबर (आईएएनएस)। देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज सोमवार को मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल आ रहे है, वे यहां जनजातीय वर्ग के भगवान बिरसा मुंडा की जंयती पर आयोजित जनजातीय गौरव दिवस कार्यक्रम में हिस्सा लेने के साथ इस वर्ग को कई सौगात देने वाले है, वहीं विश्व स्तरीय रेलवे स्टेशन रानी कमलापति का लोकार्पण भी करेंगे। सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए है। प््राधानमंत्री अपने प्रवास के दौरान लगभग साढ़े तीन घंटे भोपाल में रहने वाले है। राजधानी को पूरी तरह आदिवासी संस्कृति के रंग में रंगा गया है। हर तरफ स्वागत के लिए सरकारी अमला,भाजपा कार्यकर्ता और जनजातीय वर्ग से जुड़े लोग आतुर है। प्रधानमंत्री मोदी वायुसेना के विशेष विमान से दोपहर 12 बजकर 30 मिनट पर भोपाल पहुंचेंगे और उसके बाद 12 बजकर 50 मिनट पर हेलीकॉप्टर से जंबूरी मैदान पहुंचने का कार्यक्रम है। जहां बिरसा मुडा की जंयती पर आदिवासी गौरव दिवस के भव्य कार्यक्रम होने जा रहा है। यहां लगभग ढाई लाख जनजातीय वर्ग से जुड़े लोग जमा हो रहे है। स्व-सहायता समूहों और उनके उत्पादों की प्रदर्शनी का अवलोकन करेंगे। वे मध्यप्रदेश के जनजातीय समुदाय के स्वतंत्रता संग्राम के शहीदों एवं जननायकों की चित्र प्रदर्शनी भी देखेंगे। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी जनजातीय समुदाय के लिए राशन आपके ग्राम योजना का शुभारंभ कर संबंधितों को वाहनों की चाबी सौंपेंगे। योजना में ग्राम स्तर पर जनजातीय समुदाय को उचित मूल्य राशन प्रदाय किया जाएगा। राशन आपके द्वार योजना पर एक लघु फिल्म का प्रदर्शन भी कार्यक्रम में किया जाएगा। प्रधानमंत्री मोदी दो व्यक्तियों की जेनेटिक काउंसलिंग कार्ड प्रदान कर मध्यप्रदेश सिकल सेल (हीमोग्लोबिनोपैथी) मिशन का शुभारंभ करेंगे। मध्यप्रदेश सिकल सेल उन्मूलन मिशन पर लघु फिल्म का प्रदर्शन भी किया जायेगा। प्रधानमंत्री मोदी 20 नवनियुक्त पर्टिकुलरली वल्नरेवल ट्रायबल ग्रुप शिक्षकों में से तीन शिक्षकों को नियुक्ति पत्र प्रदान करेंगे। प्रदेश में टीकाकरण उपलब्धि और शत-प्रतिशत कोविड टीकाकरण की उपलब्धि हासिल करने वाले झाबुआ जिले के जनजातीय बहुल गांव नरसिंहरूंडा पर आधारित एक फिल्म प्रदर्शित की जायेगी। प्रधानमंत्री के भोपाल आगमन को लेकर उनके स्वागत की तैयारियां जोरों पर है। राजधानी को पूरी तरह जनजातीय संस्कृति के रंग में रंग दिया गया है। सुरक्षा के भी पुख्ता इंतजाम किए गए है। लगभग सात हजार सुरक्षा जवानों की तैनाती की गई है। तमाम सड़क मार्गों में आवागमन को ध्यान में रखकर बदलाव किया गया है। --आईएएनएस एसएनपी/आरएचए

अन्य खबरें

No stories found.