preparations-to-start-trial-run-of-water-supply-in-bundelkhand-next-month
preparations-to-start-trial-run-of-water-supply-in-bundelkhand-next-month
देश

अगले माह बुंदेलखंड में वाटर सप्लाई का ट्रायल रन शुरू करने की तैयारी

news

लखनऊ, 13 अक्टूबर (आईएएनएस)। बुंदेलखंड के गांवों में साफ पानी देने की कवायद शुरू हो गयी है। राज्य सरकार ने हर घर नल योजना के तहत बुंदेलखंड के गांवों तक पानी सप्लाई के लिए मेन लाइन बिछाने का काम लगभग पूरा कर लिया है। नवंबर के आखिरी सप्ताह से बुंदेलखंड के घरों को वाटर सप्लाई कनेक्शन से जोड़ने की शुरुआत होगी। नमामि गंगे व ग्रामीण जलापूर्ति विभाग इसके साथ ही बुंदेलखंड के गांवों में वाटर सप्लाई का ट्रायल रन भी शुरू करने जा रहा है। राज्य सरकार दिसंबर से बुंदेलखंड के हजारों गांवों में घर घर पेय जल की आपूर्ति शुरू करने जा रही है। जल जीवन मिशन के तहत हर घर नल योजना को तय समय से करीब 6 महीने पहले पूरा शुरू करने जा रही है। जालौन, हमीरपुर, बांदा, महोबा और ललितपुर के गांवों से इसकी शुरुआत करने की तैयारी है। प्रमुख सचिव नमामि गंगे अनुराग श्रीवास्तव ने तैयारियों की समीक्षा के बाद काम और तेज करने के निर्देश दिए हैं। 32 परियोजनाओं में कुल 467 पाइप पेयजल योजनाओं पर दिन रात काम चल रहा है। हर घर नल योजना के तहत बुंदेलखंड के 11,95,265 घरों में शुद्ध पानी की आपूर्ति की जाएगी। झांसी, महोबा समेत बुंदेलखंड के विभिन्न जिलों में वाटर ट्रीटमेंट प्लांट का 70 फीसदी काम पूरा कर लिया है। प्रमुख सचिव नमामि गंगे अनुराग श्रीवास्तव ने बताया कि दिसंबर से बुंदेलखंड के गांवों में वाटर सप्लाई शुरू करने के लिए विभाग तैयारी कर रहा है। सरकार के निर्देश के मुताबिक योजनाओं को शुरू किया जाएगा। पीने का साफ पानी मिलने से इलाके के लोगों को बीमारियों से तो निजात मिलेगी ही साथ ही पानी की उपलब्धता की समस्या भी दूर हो जाएगी। बुंदेलखंड क्षेत्र में जल जीवन मिशन के तहत 32 परियोजनाओं में कुल 467 पाइप पेयजल योजनाओं का निर्माण तेजी से किया जा रहा है। इनमें से 43 सतही जल आधारित योजनाएं और 424 भूजल पर आधारित हैं। इन योजनाओं से 3823 राजस्व ग्रामों के कुल 72,68,705 आबादी के लिये 11,95,265 क्रियाशील गृहजल संयोजन की व्यवस्था की जाएगी। कुल 11,95,265 घरों में शुद्ध पानी की आपूर्ति होगी। इन परियोजनाओं से बुंदेलखंड क्षेत्र के 7 जिलों की 40 तहसील, 68 विकास खंड और 2608 ग्राम पंचायतों को लाभ मिलेगा। --आईएएनएस विकेटी/एसकेके