अर्द्धसैनिक बल भी हुए कोरोना के शिकार, 24 घंटे में 577 जवान संक्रमित

अर्द्धसैनिक बल भी हुए कोरोना के शिकार, 24 घंटे में 577 जवान संक्रमित
paramilitary-forces-also-become-victims-of-corona-577-jawans-infected-in-24-hours

नई दिल्ली, 14 अप्रैल (हि.स.)। दिल्ली समेत देश के कई राज्यों में कोरोना से हहाकार मच गया है। इससे अर्द्धसैनिक बल भी अछूते नहीं रह गए हैं। बीते 24 घंटे के भीतर अर्द्धसैनिक बलों के 577 जवानों को कोरोना ने अपनी चपेट लिया है। सीआरपीएफ के प्रवक्ता दलीप अम्बेश के अनुसार पिछले 24 घंटे में 30 कोरोना के केस सामने आए हैं। कुल 16055 जवानों को कोरोना हुआ, जिसमें से 15710 जवान ठीक हुए। इस महामारी की चपेट में आने के बाद कुल 85 जवानों की मौत हुई। वर्ष 2021 की बात करें तो तीन माह में आठ जवानों की मौत हो चुकी है। जनवरी में दो जवान, मार्च में दो जवान और अप्रैल में चार जवानों की कोरोना से मौत हुई। पिछले वर्ष 2020 की बात करें तो 77 जवानों की कोरोना से मौत हुई। इसमें अप्रैल में एक, मई में एक, जून में सात, जुलाई में 10, अगस्त में 20, सितंबर में 20, अक्टूबर में आठ, नवम्बर में सात और दिसंबर में तीन मौतें हुईं हैं। बीएसएफ के प्रवक्ता कृष्णा राव के अनुसार बीएसएफ में पिछले 24 घंटे में 463 कोरोना संक्रमित मामलों की पुष्टि हुई है। कुल 16613 जवानों को कोरोना हुआ, जिसमें से 14743 जवान ठीक हुए। इस महामारी की चपेट में आने के बाद 50 जवानों की मौत हुई। वर्ष 2021 की बात करें तो तीन माह में पांच जवानों की मौत हो चुकी है। जनवरी में तीन जवान, फरवरी में एक और अप्रैल में एक जवान की कोरोना से मौत हुई। पिछले वर्ष 2020 की बात करें तो 45 जवानों की कोरोना से मौत हुई। इसमें मई दो, जून में दो, जुलाई में नौ, अगस्त में 13, सितंबर में आठ, अक्टूबर में सात, नम्बर में एक और दिसंबर में एक है। सीआईएसएफ अर्पूवा पांडेय के अनुसार सीआईएसएफ में पिछले 24 घंटे में 48 कोरोना संक्रमित मामलों की पुष्टि हुई है। कुल 12080 जवानों को कोरोना हुआ, जिसमें से 11602 जवान ठीक हुए। इस महामारी की चपेट में आने के बाद 47 जवानों की मौत हुई। वर्ष 2021 की बात करें तो तीन माह में तीन जवानों की मौत हो चुकी है जिसमें मार्च में एक और अप्रैल में दो जवान की कोरोना से मौत हुई। पिछले वर्ष 2020 की बात करें तो 44 जवानों की कोरोना से मौत हुई। इसमें मई में चार, जून में चार, जुलाई में पांच, अगस्त में 10, सितंबर में सात, अक्टूबर में छह, नम्बर में तीन और दिसंबर में पांच मौतें हुईं हैं। एसएसबी के एडिशनल प्रवक्ता पीयूष के अनुसार एसएसबी पिछले 24 घंटे में 23 मामले सामने आए हैं। कुल 5842 जवानों को कोरोना हुआ, जिसमें से 5753 जवान ठीक हुए। इस महामारी की चपेट में आने के बाद कुल 14 जवानों की मौत हुई। वर्ष 2021 की बात करें तो अभी तक किसी भी जवान की कोरोना से मौत नहीं हुई है। पिछले वर्ष 2020 में 14 जवानों की कोरोना से मौत हुई। इसमें जून में दो, जुलाई में दो, अगस्त में एक, सितंबर में पांच, अक्टूबर में एक, नम्बर में दो और दिसंबर में एक मौत हुई है। आईटीबीपी के प्रवक्ता विवेक पांडेय के अनुसार आईटीबीपी में पिछले 24 घंटे में 12 मामले सामने आए हैं। इसी क्रम कुल 4866 जवानों को कोरोना हुआ, जिसमें से 4735 जवान ठीक हुए और तीन जवानों की अभी कोरोना की रिपोर्ट नहीं आई है। आईटीबीपी ने इस वर्ष किसी जवान को नहीं खोया। पिछले वर्ष 2020 में 13 जवानों की कोरोना से मौत हुई। इसमें मई में एक जून में दो, अगस्त में तीन, सितंबर में चार, अक्टूबर में दो और दिसंबर में एक मौत है। एनडीआरएफ के प्रवक्ता दीपक भामोरिया ने बताया कि पिछले 24 घंटे में एक मामला सामने आया हैं। अब तक कुल 671 जवानों को कोरोना हुआ, जिसमें से 658 जवान ठीक हुए। वर्ष 2020 सितंबर में एनडीआरएफ के एक जवान की कोरोना से मौत हुई थी। एनएसजी में पिछले 24 घंटे में किसी को कारोना नहीं हुआ जबकि 367 जवानों को कोरोना है, जिसमें से 356 जवान ठीक हो चुके हैं। हिन्दुस्थान समाचार/अश्वनी/सुनीत