p-bengal-assembly-elections-final-phase-voting-begins
p-bengal-assembly-elections-final-phase-voting-begins
देश

प. बंगाल विस चुनावः शुरू हुआ आखिरी चरण का मतदान

news

मतदान से पूर्व कार्यकर्ता की मौत व बमबारी की घटनाएं कोलकाता, 29 अप्रैल (हि.स.)। पश्चिम बंगाल में अंतिम चरण का मतदान गुरुवार सुबह 7:00 बजे से शुरू हो गई है। इसके पहले मुर्शिदाबाद में माकपा के एक कार्यकर्ता की मौत हो गयीजबकि बीरभूम जिले के एक इलाके में रातभर बमबारी हुई है। बीरभूम के जिला तृणमूल अध्यक्ष अणुब्रत मंडल को चुनाव आयोग के निर्देशानुसार उनके घर पर ही नजरबंद किया गया है। इधर, मुर्शिदाबाद के डोमकल में तृणमूल उम्मीदवार की गाड़ी से टक्कर लगने के बाद माकपा के दो कार्यकर्ता गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हें मुर्शिदाबाद मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती किया गया। इनमें से एक की मौत हो गई है। माकपा का कहना है कि चुनाव आयोग के निर्देशानुसार प्रचार बंद हो गया है लेकिन नियमों को दरकिनार कर तृणमूल उम्मीदवार जफिकुल इस्लाम क्षेत्र में रात 11:00 बजे सभा कर रहे थे। इसी का विरोध किया गया तो उन्होंने अपनी गाड़ी से माकपा के दो कार्यकर्ताओं को कुचल दिया। इनमें से गंभीर रूप से घायल अब्दुल कादिर ने मुर्शिदाबाद मेडिकल कॉलेज अस्पताल में दम तोड़ा है। घटना के बाद पूरे क्षेत्र में तनाव का माहौल है। एक तरफ वोटिंग हो रही है तो दूसरी ओर अतिरिक्त संख्या में पुलिसकर्मियों की तैनाती करनी पड़ी है। उधर, बर्दवान के म्यूरेश्वर में भारतीय जनता पार्टी के एजेंट को मतदान केंद्र के अंदर घुसने से रोक दिया गया था। आरोप है कि बड़ी संख्या में तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ता एकत्रित हो गए थे जिसकी वजह से तनावपूर्ण हालात बने हुए थे। इधर काशीपुर-बेलगछिया जहां से मिथुन चक्रवर्ती मतदाता हैं वहां भाजपा के पोलिंग एजेंट को जेके मित्रा रोड में बने मतदान केंद्र में बैठने से रोका गया था। सूचना मिलने के बाद भाजपा उम्मीदवार शिवाजी सिंह रॉय मौके पर पहुंचे और हंगामा कर रहे तृणमूल कार्यकर्ताओं को दौड़ाते हुए घर तक ले गए। बाद में भाजपा एजेंट को बैठने की अनुमति मिली। यह भी आरोप है कि भाजपा एजेंट का दस्तावेज भी फाड़ दिया गया था। इधर काशिपुर-बेलगछिया में सुबह-सुबह 247 नंबर मतदान केंद्र पर मिथुन चक्रवर्ती ने मताधिकार का इस्तेमाल किया। बीरभूम जिले में भी चुनाव के साथ ही हिंसा की शुरुआत हो गई है। नानूर के बलूटी गांव में भाजपा कार्यकर्ताओं को बंदूक की बट से मारा पीटा गया है। आरोप है कि तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने गांव वालों को भी जान से मारने की धमकी दी है। बेलियाघाटा में भी भाजपा एजेंट को मारा पीटा गया है। गुरदास कॉलेज के मतदान केंद्र पर सुबह के समय हिंसक हालात बन गए थे। इसके अलावा बीरभूम जिले के नानूर में ही बेजरा गांव में रात भर बमबारी हुई है। 112 नंबर मतदान केंद्र पर तृणमूल कांग्रेस के पोलिंग एजेंट देवदास सरकार के घर हमले का आरोप भाजपा कार्यकर्ताओं पर लगा है। हालांकि भाजपा का आरोप है कि ऐसा कुछ नहीं हुआ है। अगर कहीं हिंसा हुई है तो तृणमूल कांग्रेस के लोगों ने किया है। हिन्दुस्थान समाचार / ओम प्रकाश