भारत-म्यांमार सीमा पर उग्रवादियों के साथ मुठभेड़ में एक जवान शहीद, 2 घायल

भारत-म्यांमार सीमा पर उग्रवादियों के साथ मुठभेड़ में एक जवान शहीद, 2 घायल
one-soldier-killed-2-injured-in-encounter-with-militants-on-indo-myanmar-border

इटानगर, 22 मई (हि.स.)। भारत-म्यांमार सीमा पर नागा विद्रोही संगठन के साथ हुई मुठभेड़ में असम राइफल्स का एक जवान शहीद हो गया, जबकि अन्य जवान घायल हो गए। शनिवार को हुई मुठभेड़ की औपचारिक पुष्टि जयरामपुर के एडीपीओ टी जिरिडो ने मीडिया के साथ बातचीत करते हुए की है। उन्होंने बताया है कि जवान के शव को जयरामपुर थाने में लाया गया, जहां से पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल में भेज दिया गया है। सुरक्षा एजेंसियों के सूत्रों ने शनिवार को बताया कि यह मुठभेड़ भारत-म्यांमार सीमा से करीब 5 किमी और अरुणाचल प्रदेश के नामपोंग राजस्व सर्किल के लोंगवी गांव से 8-9 किमी दूर हुई है। यह मुठभेड़ उस समय शुरू हुई जब एनएससीएन (खापलांग-युंग आंग) और असम के प्रतिबंधित संगठन उल्फा (स्वाधीन) समूह ने असम राइफल्स के एक दल पर गोलीबारी और ग्रेनेड से हमला कर दिया। उग्रवादियों के हमले में असम राइफल के जवान अवतार चकमा शहीद हो गये। जबकि राइफल मैन बबलू और राइफल मैन बलदेव घायल हो गए। दोनों घायलों को हेलीकॉप्टर से सैन्य अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सूत्रों ने बताया कि दोनों घायल जवानों की हालत खतरे से बाहर है। सुरक्षा एजेंसियों के सूत्रों ने बताया कि उग्रवादी संगठन एनएससीएन (खापलांग-युंग आंग) के स्वयंभू कमांडर एसएस मेजर मकम हाशेंग के नेतृत्व में एक टीम ने असम राइफल्स की टीम पर घात लगाकर हमला किया है। इस बीच सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ स्थल से करीब 10 लाख रुपये कीमत की हेरोइन बरामद करने में कामयाब हासिल की है। वहीं चांग्लांग जिला पुलिस अधीक्षक मिहीन गाम्बो ने इस अभियान के ब्योरे का खुलासा करने से इंकार करते हुए कहा कि उग्रवादियों के खिलाफ शनिवार को पूरे दिन कार्रवाई जारी रही। सुरक्षाबल पूरे इलाके को घेरकर तलाशी अभियान चला रहे हैं। गौरतलब है कि पिछले वर्ष अक्टूबर में भी भारत-म्यांमार सीमा पर अरुणाचल प्रदेश के चांग्लांग जिला के मनमाओ रोड के चेनमऊ गांव में नगा विद्रोही गुट के साथ हुई मुठभेड़ में असम राइफल्स के 19वीं बटालियन का जवान शहीद हो गया था और कई जवान घायल हो गए थे। हिन्दुस्थान समाचार/ अरविंद

अन्य खबरें

No stories found.