not-only-tea-this-region-can-also-export-many-organic-goods-pm-modi-lead-2
not-only-tea-this-region-can-also-export-many-organic-goods-pm-modi-lead-2
देश

चाय ही नहीं, यह क्षेत्र कई ऑर्गेनिक गुड्स एक्सपोर्टर कर सकता है: पीएम मोदी (लीड 2)

news

डिब्रूगढ़य/नई दिल्ली, 20 मार्च (हि.स.)। असम के डिब्रूगढ़ स्थित चाबुआ में एक जनसभा में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि आज जब हम आत्मनिर्भर भारत के अभियान को और तेज कर रहे हैं, तो ऐसे में इस क्षेत्र की सबसे बड़ी भूमिका है। चाय का एक्सपोर्ट ही नहीं, बल्कि यह क्षेत्र और भी कई ऑर्गेनिक गुड्स का एक्सपोर्टर कर सकता है। चाबुआ की चुनावी सभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने यहां की व्यापारिक संभावनाओं की तरफ लोगों का ध्यान दिलाया। उन्होंने कहा कि यहां के सामान यूरोप व मीडिल ईस्ट में पहुंच रहे हैं। यहां के सामनों की देश के अन्य भागों में बहुत संभानाएं हैं। इसी सोच के साथ किसान रेल से सीधे पश्चिम भारत को जोड़ा जा रहा है। आगे उन्होंने कहा कि फल, मछली, सब्जी आदि उत्पाद अब सीधे बड़े बाजारों में पहुंच रहे हैं। यहां फूड प्रोसेसिंग की भी बहुत बड़ी संभावना है। राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) सरकार इन उद्योगों को निरंतर प्रोत्साहित कर रही है, ताकि यहां के युवाओं को बेहतर रोजगार मिल सके। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि जल-मार्ग हमेशा से असम की ताकत रही है। लेकिन, कांग्रेस के लंबे शासनकाल में असम की इस ताकत को भुला दिया गया। इसलिए, ग्लोबल एक्सपोर्ट में भी असम की भागीदारी सीमित हो गयी। लेकिन, एनडीए सरकार असम की ताकत को फिर से मजबूत करने में जुटी हुई है। इनलैंड वाटर ट्रांसपोर्ट से जुड़ा अभियान हो या असम का महाबाहु ब्रह्मपुत्र का अभियान, इसके पीछे की यही सोच है। इस क्रम में उन्होंने जोगीघोपा में बन रहे मल्टी लॉजिस्टिक पार्क का भी उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि पहले ब्रह्मपुत्र पर पुलों की क्या स्थिति थी, यह सभी जानते हैं। नये पुलों की बात तो दूर अटल जी के कार्यकाल में शुरू किए गये कार्यों को भी कांग्रेस ने लटका दिया। जिस कार्यों को हमारी सरकार ने तेज गति से पूरा किया। चार नये ब्रिज शुरू किये गये हैं। अनेक पुलों पर कार्य हो रहा है। इसके साथ ही उन्होंने डिब्रूगढ़ में बने रेल सह रोड ब्रिज का जिक्र करते हुए कहा, इसका उद्घाटन करने का सौभाग्य आपने मुझे दिया। आज तिनसुकिया सहित पूरे क्षेत्र के लोगों को व्यापारियों, कारोबारियों, किसानों, विद्यार्थियों को सैकड़ों किमी की दूरी से मुक्ति मिल गयी है। जनसभा में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि पांच साल पहले हमने जो वादा किया था, उसे पूरा कर दिया। गैस कनेक्टिविटी के साथ ही रिफाइनरियों का भी विस्तारीकरण किया जा रहा है। इनको भविष्य की जरूरतों के हिसाब से तैयार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि भाजपा की सरकार उच्च शिक्षा के केंद्र के रूप में अहम कदम उठा रही है। चाबुआ में असम की पहली स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी, स्पोर्ट्स मल्टी पर्पज कांप्लेक्स स्थापित किये जा रहे हैं। चाबुआ और तिनसुकिया में अन्य कई तरह के संस्थान खोले जा रहे हैं, जो उच्च शिक्षा के हब के रूप में स्थापित होंगे। प्रधानमंत्री ने जोर देकर कहा कि पांच वर्ष में एनडीए सरकार ने एक मजबूत नींव रखी है। अब उस नींव पर एक मजबूत इमारत खड़ी करने का समय है। कांग्रेस इसका ही लाभ उठाना चाहती है। असम में पिछले पांच वर्ष में जो हासिल किया है, उसे वे (कांग्रेस) लूटना चाहते हैं। इसलिए अब आपको सतर्क रहना है। कांग्रेस को अपनी कुर्सी की चिंता है। उन्होंने कहा कि एक ओर हमारी सरकार सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास के पवित्र मंत्र पर काम कर रही है, वहीं कांग्रेस झूठी घोषणाओं का पिटारा बन कर गयी है। उसकी सच्चाई देशभर के लोग समझ रहे हैं। सबसे बड़ी पार्टी आज सिमटती जा रही है। कारण बिल्कुल साफ है, उनके लिए प्रतिभा का कोई सम्मान नहीं है। उनके लिए सत्ता का लालच सर्वोपरी है। सत्ता के लिए किसी का भी लाभ ले सकते हैं। चाहे इसके लिए देशवासियों से झूठ ही क्यों न बोलना पड़े। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि असम को नयी बुलंदियों तक ले जाने के लिए निरंतर आगे बढ़ना है। यह काम डबल इंजन की सरकार ही कर सकती है। उन्होंने एनडीए के उम्मीदवार को जीताने का अह्वान किया। जारी... हिन्दुस्थान समाचार/ अरविंद