गैर कोरोना मरीजों को भी कोरोना मरीजों जैसी मिले चिकित्सा सुविधा, सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर

 गैर कोरोना मरीजों को भी कोरोना मरीजों जैसी मिले चिकित्सा सुविधा, सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर
non-corona-patients-also-get-medical-facility-like-corona-patients-petition-filed-in-supreme-court

नई दिल्ली, 22 मई (हि.स.)। सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दायर कर मांग की गई है कि सभी निजी और सरकारी अस्पतालों में गैर कोरोना मरीजों का भी कोरोना के मरीजों की तरह इलाज किया जाए। याचिका वकील जीएस मणि ने दायर की है। याचिका में कहा गया है कि गैर कोरोना मरीजों को भी जीने का मौलिक अधिकार है। उन मरीजों को भी बाकी मरीजों की तरह चिकित्सा सुविधा पाने का अधिकार है। याचिका में कहा गया है कि कोरोना संक्रमण के दौरान लॉकडाउन में दिल के मरीज, गर्भवती महिलाएं, एचआईवी संक्रमित मरीज, हेपेटाइटिस बी के मरीज, थैलेसीमिया इत्यादि के मरीजों को अस्पताल में भर्ती होने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ रही है। इन मरीजों को लगातार चिकित्सा और समय-समय पर मेडिकल चेक-अप की जरूरत पड़ती है, लेकिन इन मरीजों को पर्याप्त चिकित्सा सुविधा या देखभाल भी नहीं हो पा रही है। याचिका में कहा गया है कि अधिकांश अखबारों में साफ खबरें आ रही हैं कि कोरोना संक्रमण बढ़ने की वजह से निजी और सरकारी अस्पतालों में सामान्य या आपातकालीन वार्ड बंद कर दिए गए हैं। सभी अस्पतालों में बड़े आपरेशन स्थगित कर दिए गए हैं और डॉक्टर कोरोना मरीजों के इलाज में व्यस्त हैं। एक खबर के मुताबिक दिल्ली मेडिकल काउंसिल के सचिव ने कहा था कि अस्पताल गैर कोरोना मरीजों का काफी सीमित संख्या में इलाज कर रहे हैं। हिन्दुस्थान समाचार/ संजय/ पवन