श्रीलंका में कोई लॉकडाउन नहीं, लेकिन पाबंदी रहेगी मौजूद

 श्रीलंका में कोई लॉकडाउन नहीं, लेकिन पाबंदी रहेगी मौजूद
no-lockdown-in-sri-lanka-but-restrictions-will-remain-in-place

कोलंबो, 7 अगस्त (आईएएनएस)। श्रीलंका के सेना प्रमुख जनरल शैवेंद्र सिल्वा ने कहा कि नए कोविड -19 मामलों में बढ़ोत्तरी को देखते हुए देशव्यापी तालाबंदी नहीं की जाएगी, लेकिन सार्वजनिक समारोहों पर प्रतिबंध तत्काल प्रभाव से लागू होगा। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, सिल्वा, जो कोविड -19 प्रकोप की रोकथाम के लिए राष्ट्रीय संचालन केंद्र के प्रमुख भी हैं, उन्होंने शुक्रवार को एक घोषणा में कहा कि राष्ट्रपति गोतबाया राजपक्षे के साथ बैठक के बाद यह निर्णय लिया गया कि देशव्यापी तालाबंदी की आवश्यकता नहीं है, लेकिन शादियों में शामिल होने वाले लोगों की संख्या, अंतिम संस्कार और अन्य सार्वजनिक कार्यक्रम सीमित होनी चाहिए। 500 से अधिक क्षमता वाले स्थानों पर शादी में उपस्थित लोगों को 150 मेहमानों तक सीमित किया जाएगा, जबकि 500 से कम क्षमता वाले स्थानों पर 100 मेहमानों तक सीमित किया जाएगा। साथ ही, शनिवार मध्यरात्रि से किसी भी समय अधिकतम 25 लोगों को अंतिम संस्कार में शामिल होने की अनुमति होगी। सिल्वा ने कहा कि सभी राजकीय उत्सव भी एक सितंबर तक के लिए स्थगित कर दिए जाएंगे, जबकि सरकारी सेवकों की उपस्थिति संस्था प्रमुख द्वारा तय की जानी चाहिए। श्रीलंका महामारी की तीसरी लहर के बीच में है और चिकित्सा अधिकारियों ने चेतावनी दी है कि डेल्टा वैरिएंट नियंत्रण से परे फैल सकता है। विशेष रूप से मुख्य शहरी पश्चिमी प्रांत के अस्पताल मरीजों से भरे हुए हैं, जबकि अधिकारियों ने संभावित ऑक्सीजन की कमी की चेतावनी दी है। पूरे देश में लोगों से सभी स्वास्थ्य प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करने के साथ-साथ घर से बाहर निकलते समय टाइट-फिटिंग मास्क पहनने का आग्रह किया गया है। पुलिस ने चेतावनी दी है कि इन स्वास्थ्य दिशानिर्देशों का उल्लंघन करने वालों को गिरफ्तार किया जाएगा। आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, 4,919 मौतों के साथ श्रीलंका में कोरोना वायरस के कुल मामले बढ़कर 324,223 हो गए हैं। --आईएएनएस एचके/आरएचए

अन्य खबरें

No stories found.