पुलवामा अटैक मामले में एनआईए को बड़ी कामयाबी, एक और गिरफ्तार
पुलवामा अटैक मामले में एनआईए को बड़ी कामयाबी, एक और गिरफ्तार
देश

पुलवामा अटैक मामले में एनआईए को बड़ी कामयाबी, एक और गिरफ्तार

news

नई दिल्ली, 07 जुलाई (हि.स.)। पुलवामा अटैक मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) को एक और बड़ी कामयाबी मिली है। उसने इस मामले के सातवें आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। इससे पहले एनआईए ने बडगाम के रहने वाले आरोपित मोहम्मद इकबाल राथर को गिरफ्तार किया था। उल्लेखनीय है कि 14 फरवरी, 2019 को जम्मू श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर सीआरपीएफ के वाहनों के काफिले पर आत्मघाती हमला हुआ था। इस हमले में 40 जवान शहीद हो गए थे। यह हमला जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले के अवन्तिपोरा के निकट लेथपोरा इलाके में हुआ था और जैश-ए-मोहम्मद के आत्मघाती आतंकी आदिल डार ने किया था। विस्फोटकों से लदी कार के साथ सीआरपीएफ के काफिले पर हुए इस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। एनआईए के अनुसार पुलवामा अटैक मामले की जांच के दौरान अब तक कुल छह आरोपित गिरफ्तार किए जा चुके हैं। रविवार, 5 जुलाई को सातवें आरोपित बिलाल अहमद कुचे को एनआईए ने धरदबोचा। इससे पहले 2 जुलाई को घटना के प्रमुख साजिशकर्ताओं में शामिल जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी मोहम्मद उमर फारूक के एक और मददगार जम्मू-कश्मीर के बडगाम निवासी मोहम्मद इकबाल राथेर (25) को गिरफ्तार किया था। गुरुवार को उसे एनआईए की विशेष अदालत में पेश करने के बाद पूछताछ के लिए सात दिन की रिमांड पर लिया था। एनआईए के एक प्रवक्ता के अनुसार आरोपित राथेर ने अप्रैल, 2018 में घुसपैठ कर जम्मू क्षेत्र में पहुंचे जैश-ए- मोहम्मद के आतंकी मोहम्मद उमर फारूक की आवाजाही में मदद की थी। फारूक पाकिस्तान से गतिविधियां चलाने वाले आतंकी संगठन का सदस्य और पुलवामा हमले का मुख्य सरगना है। हिन्दुस्थान समाचार/जितेन्द्र बच्चन-hindusthansamachar.in