पूर्व नौसेनाध्यक्ष एडमिरल जोशी ने समस्त वीरता अलंकरण राशि युद्ध स्मारक को दी
पूर्व नौसेनाध्यक्ष एडमिरल जोशी ने समस्त वीरता अलंकरण राशि युद्ध स्मारक को दी

पूर्व नौसेनाध्यक्ष एडमिरल जोशी ने समस्त वीरता अलंकरण राशि युद्ध स्मारक को दी

युद्ध स्मारक के अध्यक्ष तरुण विजय ने इसे बताया शानदार और प्रेरक मिसाल देहरादून, 24 जुलाई (हि.स.)। पूर्व नौसेनाध्यक्ष एवं अंडमान निकोबार के उप राज्यपाल एडमिरल देवेंद्र कुमार जोशी ने अपने समेत वीरता अलंकरणों के लिए उत्तराखंड सरकार से मिलने वाली नियमित राशि उत्तराखंड शौर्य स्थल को अर्पित करने की प्रेरक मिसाल पेश की है। यह राशि लगभग एक लाख रुपये प्रतिवर्ष होती है, जो आजीवन मिलती है। एडमिरल जोशी ने नियमित यह राशि युद्ध स्मारक के खाते में सीधे देने के लिए मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को पत्र लिखा है। एडमिरल जोशी ने पत्र में कहा है कि उनको जो सैन्य सम्मान प्राप्त हुए हैं (परम विशिष्ट सेवा मैडल, अति विशिष्ट सेवा मैडल, युद्ध सेवा मैडल, नौसेना मैडल और विशिष्ट सेवा मैडल) इन सबके लिए उत्तराखंड शासन के सैनिक कल्याण एवं पुनर्वास विभाग की और से उनको जो सम्मान राशि प्रतिवर्ष मिलती हैं, वह समस्त राशि नियमित रूप से उत्तराखंड युद्ध स्मारक को मिले। इसके लिए वे यह पत्र लिख रहे हैं, जिसको औपचारिक रूप से अग्रिम रसीद भी माना जाए। एडमिरल जोशी ने कहा कि उनका सौभाग्य है कि उत्तराखंड निवासी होने के नाते उनको प्रदेश के बहादुर बेटे-बेटियों के बलिदान के प्रति अपने श्रद्धा सुमन अर्पित करने का अवसर मिल रहा है। एडमिरल जोशी के इस उदात्त कदम की भूरि-भूरि प्रशंसा करते हुए युद्ध स्मारक के अध्यक्ष तरुण विजय ने कहा कि उन्होंने देश में एक दुर्लभ, असाधारण और अभूतपूर्व उदाहरण प्रस्तुत किया है। इससे नयी पीढ़ी को प्रेरणा मिलेगी और समाज में सैनिकों के प्रति श्रद्धा का प्रसार होगा। वीर एडमिरल जोशी ने उत्तराखंड की आन, बान और शान को बढ़ाया है। वे मां भारती और उत्तराखंड के सच्चे सपूत हैं। हिन्दुस्थान समाचार/दधिबल/बच्चन-hindusthansamachar.in

Last updated