मप्र : शिवपुरी में स्व-सहायता समूह की महिलाएं बना रहीं बाढ़ पीड़ितों के लिए खाना

 मप्र : शिवपुरी में स्व-सहायता समूह की महिलाएं बना रहीं बाढ़ पीड़ितों के लिए खाना
mp-women-of-self-help-groups-are-preparing-food-for-flood-victims-in-shivpuri

भोपाल 6 अगस्त (आईएएनएस)। मध्य प्रदेश के कई हिस्सों में आई बाढ़ से प्रभावित हुए लोगों की मदद के लिए सरकार, प्रशासन के साथ समाज भी आगे आया है। शिवपुरी जिले में तो स्व-सहायता समूह की महिलाएं अपने घरों में खाना बनाकर बाढ़ पीड़ितों तक पहुंचाने में लगी हैं। शिवपुरी जिले में पिछले कुछ दिनों से हो रही बारिश के बीच कई परिवारों के सामने संकट खड़ा हो गया है। इसी बीच शिवपुरी व करैरा ब्लॉक की ग्रामीण आजीविका समूह की महिलाएं बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए आगे आई हैं। समूह की यह महिलाएं अपने घर पर जनभागीदारी से खाना बनाकर बाढ़ पीड़ितों के घर तक भिजवा रही हैं। समूह की महिलाएं अपने घरों पर एकत्रित होकर खाना बनाकर इनके पैकेट बनाती हैं। इसके बाद इन्हें बाढ़ प्रभावित गांवों व इलाकों में प्रशासन की मदद से भिजवा रही हैं। दो दिन में इन समूह की महिलाओं ने 2500 से ज्यादा पैकेट बाढ़ पीड़ितों के पास भिजवाए हैं। ज्ञात हो कि शिवपुरी जिले में बाढ़ ने जमकर तबाही मचाई है, लोगों की गृहस्थी पूरी तरह बाढ़ और पानी की भेंट चढ़ गई है। काम-धंधे ठप पड़े हैं, जिससे बड़ी संख्या में लोगों के सामने दो वक्त की रोटी का संकट खड़ा हो गया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि सामाजिक संस्थाओं और जन-सहयोग से बाढ़ प्रभावितों को राहत पहुंचाएंगे। उन्होंने बताया कि एक अपील पर कल ही ग्वालियर से श्योपुर अनाज लेकर ट्रक रवाना हुए हैं। सामाजिक संस्थाओं के माध्यम से प्रभावितों तक फूड पैकेट पहुंचाएंगे। साथ ही सूखा अनाज भी देंगे। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रभारी और स्थानीय मंत्री ऐसे कार्यों को अपने नेतृत्व में सम्पन्न करवाएं। बड़े कस्बों से ग्रामों तक ऐसी मदद पहुंचाना ज्यादा आसान है। साथ ही आसपास के ग्रामों के लोगों को तैयार भोजन आपूर्ति भी करें। क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटियां भी गतिशील होकर लोगों की सहायता करेंगी। जिला, ब्लॉक और ग्राम स्तर की कमेटियां राहत और पुनर्वास के कार्यों में लगेंगी। ज्ञात हो कि राज्य में हुई बारिश से सबसे ज्यादा नुकसान ग्वालियर-चंबल इलाके को हुआ है। --आईएएनएस एसएनपी/एसजीके

अन्य खबरें

No stories found.