modi39s-comment-on-bhojpuri-on-social-media-started-39na-khelb-na-khele-deb39
modi39s-comment-on-bhojpuri-on-social-media-started-39na-khelb-na-khele-deb39
देश

सोशल मीडिया पर ट्रेंड करने लगी मोदी की भोजपुरी में की गई टिप्पणी ‘न खेलब न खेले देब’

news

नई दिल्ली, 10 फरवरी (हि.स.)। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने किसान आंदोलन के बारे में बुधवार को लोकसभा में भोजपुरी की जो कहावत सुनाई वह सोशल मीडिया पर देखते-देखते ही ट्रेंड करने लगी। प्रधानमंत्री ने इस कहावत का इस्तेमाल आंदोलनजीवियों पर हमले के तौर पर किया। प्रधानमंत्री का संबोधन खत्म होने के बाद ट्विटर पर ‘खेले देब’ ट्रेंड करने लगा। भोजपुरी कहावत थी ‘न खेलब न खेले देब, खेलिए बिगाड़ब’ अर्थात ‘न खेलूंगा न खेलने दूंगा, खेल बिगाड़ूंगा।’ मोदी का संसदीय क्षेत्र वाराणसी भी भोजपुरी भाषी इलाका है तथा यहां काम में विध्न पैदा करने वालों के लिए इस कहावत का प्रयोग किया जाता है। मोदी ने इस कहावत का इस्तेमाल कृषि कानूनों को लेकर किसानों को गुमराह करने वाले आंदोलनजीवियों और पेशेवर आंदोलनकारियों के लिए किया था। ट्विटर पर #खेलेदेब के जरिए प्रधानमंत्री की इस त्वरित टिप्पणी की प्रशंसा की जा रही है। एक व्यक्ति ने टिप्पणी की कि भोजपुरी भाषा-भाषी के कारण मोदी का यह कथन उन्हें बहुत अच्छा लगा। कांग्रेसियों सहित विपक्ष के लिए यह जोरदार संदेश था। एक अन्य ट्विटर यूजर ने टिप्पणी की कि बचपन से ही यह कहावत सुनते आ रहे हैं आज प्रधानमंत्री के मुंह से भी यह सुनकर अच्छा लगा। हिन्दुस्थान समाचार/अजीत/सुफल-hindusthansamachar.in