महामारी के दौरान मोदी सरकार ने पेट्रोल-डीजल से कमाए 2.74 लाख करोड़ रुपये : प्रियंका

महामारी के दौरान मोदी सरकार ने पेट्रोल-डीजल से कमाए 2.74 लाख करोड़ रुपये : प्रियंका
modi-government-earned-rs-274-lakh-crore-from-petrol-and-diesel-during-the-pandemic-priyanka

नई दिल्ली, 11 जून (हि.स.)। डीजल और पेट्रोल के बढ़ते दामों को लेकर शुक्रवार सुबह से ही कांग्रेस ने पूरे देश में 'आक्रोश दिवस' मनाकर केन्द्र सरकार का विरोध किया। इस मौके पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर गंभीर आरोप लगाए हैं। प्रियंका गांधी ने शुक्रवार को ट्वीट कर कहा कि महामारी के दौरान मोदी सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर 2.74 लाख करोड़ रुपये टैक्स वसूले हैं। लेकिन मोदी सरकार ने इन पैसों का कोई सकारात्मक उपयोग नहीं किया। उन्होंने कहा कि सरकार अगर इन्हीं पैसों का उपयोग करती तो पूरे भारत के लिए 67000 करोड़ रुपये की वैक्सीन खरीद सकती थी और 718 जिलों में ऑक्सीजन प्लांट लगा सकती थी । 29 राज्यों में एम्स अस्पताल बना सकती थी। 25 करोड़ गरीबों को 6000 रुपये की मदद दे सकती थी। लेकिन जनता को इसमें से कुछ नहीं मिला। वहीं कांग्रेस नेता व लोकसभा सांसद राहुल गांधी ने भी ट्वीट कर केन्द्र सरकार पर निशाना साधा है। राहुल ने कहा कि भाजपा शासनकाल में तेल के दाम आसमान छू रहे हैं। अर्थ व्यवस्था दम तोड़ चुकी है। बेरोजगारी चरम पर है। देश का युवा त्रस्त है। राहुल ने कहा कि भाजपा पूरी तरह फेल रही है वो जनता से छल कर रही है। उल्लेखनीय है कि कांग्रेस के इस देशव्यापी विरोध प्रदर्शन में कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर भाजपा को घेरा तो लेकिन दोनों नेता कहीं सड़क पर नहीं दिखाई दिए। वहीं अनेक राज्यों के बड़े कांग्रेसी नेता व कार्यकर्ता पेट्रोल पंपों के सामने विरोध प्रदर्शन करते नजर आए। हरियाणा के कैथल में कांग्रेस महासचिव रणदीप सिंह सुरजेवाला ने भी विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व किया। यहां एक ट्रैक्टर को बैलगाड़ी से खींचकर पेट्रोल पंप तक लाया गया। हिन्दुस्थान समाचार/आशुतोष