पुडुचेरी में भाजपा विधायकों को रोटेशनल आधार पर  मंत्री पद
ministerial-posts-to-bjp-mlas-in-puducherry-on-rotational-basis

पुडुचेरी में भाजपा विधायकों को रोटेशनल आधार पर मंत्री पद

पुडुचेरी, 20 जून (आईएएनएस)। पुडुचेरी में भारतीय जनता पार्टी ने अपने विधायकों को एक साल के लिए बारी-बारी से मंत्री पद देने का फैसला किया है। इससे पहले पार्टी विधायक जॉन कुमार के समर्थकों ने कैबिनेट में शामिल नहीं किए जाने के लिए राज्य समिति कार्यालय के समक्ष धरना दिया। शनिवार को, जॉन कुमार के समर्थकों के एक समूह ने भाजपा पुडुचेरी राज्य समिति कार्यालय की घेराबंदी कर दी थी, क्योंकि पार्टी नेतृत्व ने उन्हें मंत्री पद से वंचित कर दिया था। आयकर विभाग ने 750 करोड़ रुपये से अधिक की कर चोरी के लिए उनके खिलाफ मामला दर्ज किया है। जॉन कुमार द्रमुक के पूर्व नेता थे, जो बाद में कांग्रेस में चले गए और वहां से 2021 के विधानसभा चुनावों से ठीक पहले भाजपा में शामिल हो गए। जॉन कुमार के समर्थक उग्र हो गए और यहां तक कि उनके नेता को मंत्री बनाए जाने की मांग को लेकर पार्टी की राज्य समिति के कार्यालय में ताला लगा दिया। भाजपा ने फैसला किया है कि कांग्रेस के पूर्व नेता और मंत्री ए. नामसिवयम को पहले मंत्री बनाया जाएगा। फिर छह विधायकों में से अन्य चार विधायकों को मंत्री पद प्रदान किया जाएगा। भाजपा विधायक इमबलम आर. सेल्वम पहले ही पुडुचेरी विधानसभा के अध्यक्ष चुने जा चुके हैं और इसलिए पार्टी से मंत्री पद के दावेदारों की संख्या घटकर पांच हो गई है। जॉन कुमार अपने बेटे रिचर्ड जॉनकुमार और एक अन्य विधायक पी.एल. कल्याणसुंदरम के साथ अल्पसंख्यक समुदाय के प्रतिनिधि के रूप में मंत्री पद के लिए अपनी दावेदारी पेश करने पहले ही दिल्ली पहुंच चुके हैं। पता चला है कि भाजपा आलाकमान के साथ बैठक के बाद पार्टी नेतृत्व ने सभी पार्टी विधायकों को बारी-बारी से प्रत्येक विधायक को एक साल की अवधि के लिए मंत्री पद प्रदान करने पर सहमति जताई है। भाजपा ने 2021 के विधानसभा चुनावों में जिन नौ सीटों पर चुनाव लड़ा, उनमें से छह पर जीत हासिल की, जो पुडुचेरी के इतिहास में पार्टी का सबसे अच्छा चुनावी प्रदर्शन है। --आईएएनएस आरएचए/आरजेएस

Related Stories

No stories found.