mathura-five-pfi-members-present-through-video-conferencing-next-hearing-on-31-march
mathura-five-pfi-members-present-through-video-conferencing-next-hearing-on-31-march
देश

मथुरा: वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए हुई पीएफआई के पांच सदस्यों की पेशी, अगली सुनवाई 31 मार्च को

news

- कोर्ट में चार मार्च को होगी सिद्दीकी और रउफ शरीफ की पुनः पेशी मथुरा, 02 मार्च (हि.स.) । पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) के पांच सदस्यों की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मंगलवार दोपहर बाद एडीजे प्रथम कोर्ट में पेशी की गई। अधिवक्ताओं द्वारा पेश किए जाने के बाद मामले की अगली सुनवाई 31 मार्च को होगी। लखनऊ एसटीएफ के अधिकारियों ने कुछ अहम दस्तावेज न्यायालय के समक्ष पेश किए। मंगलवार दोपहर बाद पीएफआई के सदस्य अतीकुर्रहमान, आलम, मसूद, सिद्दीकी और छात्र विंग संगठन के महासचिव रऊफ शरीफ की एडीजे प्रथम कोर्ट में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से देशद्रोह के मामले में पेशी हुई, ये सभी राजद्रोह, सांप्रदायिक हिंसा और विदेशों से फंडिंग के मामले में जिला कारागार में बंद हैं। इस संगीन मामले में लखनऊ एसटीएफ की टीम जांच कर रही है। मंगलवार शाम जिला शासकीय अधिवक्ता शिवराम सिंह तरकर ने बताया पीएफआई के पांच सदस्यों की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से पेशी की गई, मामले की अगली सुनवाई 31 मार्च को होगी। वहीं दो आरोपित सिद्दीकी कप्पन और रावत शरीफ के हैंडराइटिंग और हस्ताक्षर के लिए न्यायालय के समक्ष 4 मार्च को पेश होना है। 4 मार्च को कोर्ट में पेश होंगे दो आरोपित केरल निवासी सिद्दीकी कप्पन और छात्र विंग संगठन महासचिव रउफ शरीफ के हैंडराइटिंग और हस्ताक्षर वेरीफाई करने के लिए न्यायालय के समक्ष पेश किया जाएगा। एसटीएफ अधिकारियों द्वारा प्रार्थना पत्र दिए जाने के बाद न्यायालय ने दो आरोपियों को 4 मार्च कोर्ट के समक्ष पेश होना है जो फिलहाल जनपद के जिला कारागार में बंद है। वहीं लखनऊ में स्पेशल टास्क फोर्स ने 16 फरवरी को पीएफआई के दो सदस्य फिरोज खान और अंसद बदरुद्दीन निवासी केरल विस्फोटक सामग्री के साथ गिरफ्तार किया था। ये दोनों पीएफआई छात्र विंग संगठन रउफ शरीफ के नजदीकी बताए जा रहे हैं। इसको लेकर कुछ अहम दस्तावेज एसटीएफ की टीम ने न्यायालय के समक्ष पेश किए हैं। हिन्दुस्थान समाचार/महेश