mamta-reiterated---39i-am-a-staunch-hindu-i-do-chandi-pathak39
mamta-reiterated---39i-am-a-staunch-hindu-i-do-chandi-pathak39
देश

ममता ने फिर दोहराया - 'मैं हूं कट्टर हिंदू , करती हूं चंडी पाठ'

news

कोलकाता, 03 अप्रैल (हि.स.)। पश्चिम बंगाल के चुनावी समर में सरकार बचाने की जुगत में लगी तृणमूल कांग्रेस की सुप्रीम मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आज फिर दोहराया है कि वह कट्टर हिंदू हैं और चंडी पाठ करती हैं। शनिवार को दक्षिण 24 परगना के रायदिघी में एक चुनावी जनसभा में ममता ने कहा कि मैं उनमें से नहीं जो 5 स्टार होटल से लंच पैक करवाकर दलितों के यहां भोजन करते हैं। स्थानीय मुस्लिम समुदाय को संबोधित करते हुए कहा कि वह भाजपा द्वारा समर्थित पार्टी, जो हैदराबाद से चुनाव लड़ने यहां आई है और पश्चिम बंगाल में उसकी सहयोगी पार्टी के झांसे में न आएं। वे वोटों का ध्रुवीकरण करने के लिए मैदान में हैं। निश्चिततौर पर उनका निशाना असदुद्दीन की पार्टी एआईएमआईएम और अब्बास सिद्दीकी की पार्टी इंडियन सेक्युलर फ्रंट पर था। अब्बास सिद्दीकी की पार्टी इंडियन सेक्युलर फ्रंट बंगाल में सीपीआईएम और कांग्रेस के साथ गठबंधन में चुनाव लड़ रही है। इस दौरान ममता ने हिंदुओं से भी आग्रह किया कि वे भाजपा की सांप्रदायिक विवाद भड़काने की कोशिशों के खिलाफ भी पहरेदारी करें और आपके इलाके में परेशानी खड़ी करने के लिए आए बाहरी लोगों को घुसने न दें। अपने ऊपर लगे अल्पसंख्यकों के तुष्टीकरण के आरोपों का जवाब देते हुए उन्होंने कहा- 'मैं एक कट्टर हिंदू हूं और घर से बाहर निकलने से पहले रोज चंडी मंत्र का पाठ करती हूं, लेकिन मैं सभी धर्मों के लोगों के धर्म का सम्मान करने की अपनी परंपरा पर विश्वास रखती हूं।' भाजपा नेताओं के दलितों के घरों पर भोजन करने पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा, 'उन्होंने कहा कि मैं ब्राह्मण महिला हूं, लेकिन अनुसूचित जाति की महिलाओं के साथ जुड़ी रहती हूं, जो मेरी हर जरूरतों का ख्याल रखती हैं। वह मेरे लिए खाना भी बनाती हैं। ममता बनर्जी ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि मुझे उन लोगों की तरह इस बात का प्रचार करने की जरूर नहीं और जिनका स्वभाव दलित विरोधी, पिछड़ी जाति विरोधी और अल्पसंख्यक विरोधी है। अल्पसंख्यक समुदाय को एनआरसी का डर दिखाते हुए ममता ने कहा कि भाजपा सत्ता में आते ही एनआरसी और सीएए लागू करेगी और लोगों को यहां से जाने के लिए मजबूर करेगी। उन्होंने कहा कि वे पश्चिम बंगाल और इसके लोगों को बांट देंगे। याद रखिए कि उन्होंने कैसे 14 लाख बंगालियों और दो लाख बिहारियों के नाम एनआरसी से हटा दिए हैं। बनर्जी ने कहा कि मतदान से 48 घंटे पहले केंद्रीय बल हर व्यक्ति के घर जाकर उन्हें डरा-धमका रहे हैं और उनसे भाजपा को वोट डालने को कह रहे हैं। उन्होंने लोगों से इनका सामना करने के लिए तैयार रहने को कहा। हिन्दुस्थान समाचार / ओम प्रकाश