वोट बैंक के लिए मुस्लिमों को गरीब और अशिक्षित बनाकर रखी हैं ममता : दिलीप घोष

वोट बैंक के लिए मुस्लिमों को गरीब और अशिक्षित बनाकर रखी हैं ममता : दिलीप घोष
mamta-has-kept-muslims-poor-and-uneducated-for-vote-bank-dilip-ghosh

कोलकाता, 12 अप्रैल (हि. स.)। भारतीय जनता पार्टी की पश्चिम बंगाल इकाई के अध्यक्ष दिलीप घोष ने सोमवार को एक बार फिर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर तीखा हमला बोला है। उन्होंने कहा है कि ममता बनर्जी ने जान-बूझकर बंगाल के मुसलमानों को गरीब और अशिक्षित रखा है ताकि वोट के समय उनका इस्तेमाल कर सकें। मुर्शिदाबाद के जंगीपुर में एक चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए दिलीप घोष ने कहा कि ममता बनर्जी नहीं चाहती हैं कि लोगों को नौकरी मिले, लोग शिक्षित हों, उन्हें शुद्ध पानी मिले, परिवहन व्यवस्था बेहतर हो। उनका एकमात्र मकसद लोगों को गरीब बनाकर रखना है। घोष ने कहा कि सबसे अधिक अन्याय उन्होंने मुस्लिम समुदाय के साथ किया है। मुर्शिदाबाद के युवक-युवतियां दूसरे राज्यों में नौकरी की तलाश में जाते हैं। लॉकडाउन के समय सभी राज्यों की सरकारों ने श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाकर प्रवासी मजदूरों को वापस लौटाया था लेकिन ममता बनर्जी की सरकार ने ऐसा नहीं किया। उन्होंने मजदूरों को वापस लाने वाली ट्रेन को कोरोना स्पेशल ट्रेन कहा था। सच्चाई यह है कि पिछले 10 सालों के शासन काल में ममता बनर्जी ने गरीब लोगों के लिए कुछ भी नहीं किया। यहां तक कि केंद्र सरकार ने गरीबों के लिए जो आर्थिक सहायता भेजी उसे भी तृणमूल के लोग खा गए। बंगाल में सबसे अधिक असुरक्षित महिलाएं हैं। यहां अपराधियों को, बलात्कारियों को कोई सजा नहीं होती। उन्होंने बंगाल में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनाने का आह्वान करते हुए कहा कि भाजपा सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास की अपनी नीति पर चलने वाली पार्टी है। उन्होंने आश्वस्त किया कि बंगाल में भाजपा की सरकार बनने के बाद केंद्र और राज्य की सरकारें मिलकर लोगों के विकास के लिए काम करेंगी। हिन्दुस्थान समाचार/ओम प्रकाश/गंगा