mamta-government-did-not-worry-about-the-people-of-bengal-kailash-chaudhary
mamta-government-did-not-worry-about-the-people-of-bengal-kailash-chaudhary
देश

ममता सरकार ने नहीं की बंगाल के लोगों की चिंता: कैलाश चौधरी

news

-केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री ने कहा- बंगाल में बनेगी भाजपा की सरकार बासंती(दक्षिण 24 परगना), 03 अप्रैल (हि.स.)। केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्य मंत्री कैलाश चौधरी ने कहा है कि बंगाल की ममता बनर्जी सरकार ने कभी भी आम लोगों की चिंता नहीं की। शनिवार को बासंती के फुलमालंचा में मां काली की पूजा-अर्चना के बाद कैलाश चौधरी ने कहा कि मुझे पूर्ण विश्वास है कि मां काली के आशीर्वाद और जनता के विश्वास से बंगाल में भारतीय जनता पार्टी का सुराज स्थापित होगा और राजनीतिक द्वेषभावना से पिछड़ा बंगाल विकास के पथ पर आगे बढ़ेगा। बाद में कृषि राज्यमंत्री ने बासंती विधानसभा क्षेत्र में राजस्थान विधानसभा के उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ के साथ कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की। बैठक को सम्बोधित करते हुए कैलाश चौधरी ने कहा कि "हर बूथ-भाजपा मजबूत" के ध्येय साथ भाजपा कार्यकर्ता बंगाल में इतिहास रचने जा रहे हैं। कार्यकर्ताओं का परिश्रम और आमजन का विश्वास सोनार बांग्ला के सपने को साकार करेगा। भाजपा की राष्ट्रवादी विचारधारा एवं विकास के विजन के साथ बंगाल जुड़ रहा है। इस दौरान चौधरी ने किसानों को एक बार फिर से भरोसा दिलाते हुए कहा कि किसानों के लिए एमएसपी पहले भी था, अभी भी है और आगे भी रहेगा। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में देश भर में बड़े पैमाने पर मंडियों को आधुनिक बनाया जाएगा। वहीं गरीबों व किसानों के लिए चलाई जा रही आयुष्मान भारत और प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि जैसी केंद्र सरकार की विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं को पश्चिम बंगाल में भी लागू जाएगा। कृषि राज्यमंत्री ने कहा कि भाजपा की सरकार बनने पर हम बंगाल के उज्ज्वल भविष्य के लिए जी-जान से जुट जाएंगे। भाजपा का संकल्प बंगाल के गरीब से किसान तक, हर क्षेत्र तक विकास पहुंचाने का संकल्प है। भाजपा- हर स्कीम को भ्र्ष्टाचार मुक्त करेगी। कैलाश चौधरी ने कहा कि केंद्र सरकार हर घर नल से जल पहुंचाने के लिए काम कर रही है लेकिन तृणमूल की सरकार ने यहां ये भी नहीं होने दिया। टीएमसी सरकार को आपकी चिंता नहीं है। छोटे किसानों को सशक्त कर रही है मोदी सरकार कैलाश चौधरी ने कहा कि छोटे किसानों के लिए मोदी सरकार लगातार काम कर रही है। ऐसे किसान जिनके पास थोड़ी सी जमीन है उनकी संख्या तेजी से बढ़ रही है। उनके लिए 2014 के बाद फसल बीमा योजना का दायरा बढ़ाया गया। पिछले सात सालों में इस योजना के तहत 90 हजार करोड़ क्लेम के तौर पर दिए गए हैं। कैलाश चौधरी ने कहा कि छोटे किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड दिए जा रहे हैं। पौने दो करोड़ किसानों को ये क्रेडिट कार्ड दिया जा चुका है। उन्होंने कहा कि गांवों में बेहतर सड़कें बनाने और किसान रेल के जरिए किसानों को उनकी उपज की ज्यादा कीमत दिलाने का प्रयास किया जा रहा है। हिन्दुस्थान समाचार/संतोष मधुप