दो मई को ममता बनर्जी की विदाई तय : जेपी नड्डा

दो मई को ममता बनर्जी की विदाई तय : जेपी नड्डा
mamta-banerjee39s-farewell-fixed-on-may-2-jp-nadda

कोलकाता, 26 अप्रैल (हि.स.)। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने सोमवार को आठवें चरण के चुनाव प्रचार के सिलसिले में बंगाल में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा है कि दो मई को ममता बनर्जी की विदाई तय है। नड्डा ने कहा कि दो मई को बंगाल से विकास का रोड़ा हट जाएगा और बंगाल में भाजपा की सरकार बनेगी। उसके बाद बंगाल के लोगों को भी वे सारी सुविधाएं मिलेंगी और उन सभी योजनाओं को लाभ मिलेगा, जो देश के अन्य राज्य के लोगों को मिल रहा है। नड्डा सोमवार को नयी दिल्ली से वर्चुअल के जरिए मालदा के मतदाताओं को संबोधित कर रहे थे। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष नड्डा ने कहा कि राज्य की जनता बुलेट का जवाब बैलेट से देगी। मालदा के उम्मीदवार गोपाल चंद्र साहा को गोली मारी गई थी, लेकिन वह बाल-बाल बच गए थे। उन्होंने बताया कि बंगाल में एक करोड़ से ज्यादा टॉयलेट बनाए गए हैं। मोदी ने महिलाओं का सशक्तिकरण किया है। 4,67 लाख करोड़ परिवारों को पांच लाख रुपये का हेल्थ कवर दो मई को दे दिया जाएगा। मोदी जी किसान सम्मान निधि देना चाह रहे थे कि लेकिन ममता जी का अहम सामने आ गया। भाजपा की सरकार बनने के बाद ये पैसा उन्हें दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि बंगाल में डबल इंजन की सरकार बना दें और विकास में रोड़ा को हटा दें। बंगाल को वह हर सुविधा मिलेगी, जो देश के दूसरे लोगों को मिल रही है। विकास की जगह बंगाल में तोलाबाजी होती है। दो मई के बाद बंगाल भष्टाचार मुक्त बंगाल बनेगा। किसानों के लिए कोल्ड स्टोरेज बनेंगे। कहा भाजपा ने दलितों को मुख्य धारा में लाने का किया है। हमारे उम्मीदवार गोपाल चंद्र साहा को गोली मारी गई है, लेकिन वह फिर से सेवा में लगेंगे। उन्होंने कहा कि चह मालदा आना चाहते थे कि लेकिन हेल्थ प्रोटोकॉल के कारण नहीं आ पाया है,लेकिन चुनाव के बाद वह आएंगे। उल्लेखनीय है कि पश्चिम बंगाल विधानसभा का आठवां और आखिरी चरण का चुनाव 29 अप्रैल को होगा। इस दिन चार जिलों की 35 सीटों पर मतदान होगा। इस चरण के साथ ही बंगाल विधानसभा चुनाव का सबसे लंबा चुनाव समाप्त हो जाएगा। दो मई को चुनाव परिणाम घोषित होंगे। इस चरण में मालदा (6), मुर्शिदाबाद (11), कोलकाता (7) और बीरभूम (11) सीटों पर मतदान होंगे। हालांकि दो विधानसभा क्षेत्र जंगीपुर और शमशेरगंज में कोरोना के कारण उम्मीदवार की मृत्यु के कारण 16 मई को चुनाव आयोग ने मतदान कराने की घोषणा की है, लेकिन चुनाव आयोग ने बड़ी रैली करने पर प्रतिबंध लगा दिया है। इस कारण सभी नेता वर्चुअल मीटिंग कर रहे हैं। हिन्दुस्थान समाचार/ ओम प्रकाश/रामानुज