ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर बंगाल की ऑक्सीजन अन्य राज्य को देने पर जताई नाराजगी

ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर बंगाल की ऑक्सीजन अन्य राज्य को देने पर जताई नाराजगी
mamta-banerjee-writes-letter-to-prime-minister-expressing-displeasure-over-giving-oxygen-to-bengal-to-other-state

कोलकाता, 07 मई (हि.स.)। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखकर बंगाल में उत्पादित ऑक्सीजन को किसी और राज्य में भेजने पर नाराजगी जताई है। उन्होंने बंगाल की जरूरत के मुताबिक आपूर्ति सुनिश्चित करने की भी मांग की है। शुक्रवार को ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री माेदी को लिखे पत्र में कहा है कि पश्चिम बंगाल में कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर राज्य को अगले 7-8 दिन में 550 मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन की जरूरत हो सकती है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अपने पत्र लिखा कि इसके पहले भी 05 मई को मैंने पत्र भेजकर बताया था कि कोरोना महामारी के कारण मेडिकल ऑक्सीजन की मांग बढ़ने के साथ राज्य में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ रही है। उन्होंने बताया कि पिछले 24 घंटे के दौरान 470 मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन की खपत हुई है। यह अगले 7-8 दिन में बढ़कर 570 मीट्रिक टन हो सकती है। मुख्यमंत्री ने अपने पत्र में कहा है कि मुख्य सचिव ने पहले ही इस बाबत केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव और अधिकारियों को सूचित किया है कि राज्य को 570 मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन की जरूरत है। पश्चिम बंगाल सरकार को अलॉटमेंट करने की जगह केंद्र सरकार ने दूसरे राज्यों का अलॉटमेंट बढ़ा दिया है। उन्होंने कहा कि बंगाल में प्रतिदिन 560 मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन का उत्पादन होता है। वर्तमान परिस्थिति के मद्देनजर केंद्र सरकार तत्काल बंगाल को उपर्युक्त मात्रा में मेडिकल ऑक्सीजन उपलब्ध कराने का आदेश दे। उन्होंने कहा कि यदि सही समय पर मेडिकल ऑक्सीजन का आवंटन नहीं किया गया, तो ऑक्सीजन के अभाव में लोगों की मौत भी हो सकती है। हिन्दुस्थान समाचार / ओम प्रकाश