राम मंदिर का निर्माण हिंदुस्तान की अस्मिता का प्रतीक : भैय्याजी जोशी
राम मंदिर का निर्माण हिंदुस्तान की अस्मिता का प्रतीक : भैय्याजी जोशी
देश

राम मंदिर का निर्माण हिंदुस्तान की अस्मिता का प्रतीक : भैय्याजी जोशी

news

राम मंदिर का निर्माण हिंदुस्तान की अस्मिता का प्रतीक : भैय्याजी जोशी नई दिल्ली। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह सुरेश भैय्याजी जोशी ने आज कहा कि देश में कई ‘आक्रांता’ आए और अपने चिह्न छोड़ गए जिन्हें देखकर ‘वेदना’ होती है और ऐसे में राम मंदिर का बनना ‘राष्ट्रीय अस्मिता का प्रतीक’ है। जोशी ने कहा, ‘अयोध्या में भगवान श्रीराम के मंदिर का निर्माण केवल आस्था के एक केंद्र या एक और मंदिर की स्थापना नहीं बल्कि देश की अस्मिता और मानव कल्याण से जुड़ा विषय है।’ जोशी श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य मंदिर निर्माण के विषय पर अशोक सिंघल फाउंडेशन द्वारा आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। दिग्विजय बोले- पूर्व पीएम राजीव गांधी भी चाहते थे कि अयोध्या में भव्य राम मंदिर बने संघ के सरकार्यवाह ने कहा, ‘‘अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण केवल एक मंदिर की स्थापना नहीं है। देश में भगवार राम के हजारों मंदिर हैं। इन मंदिरों की श्रृंखला में एक और मंदिर बन जाए, यही केवल अयोध्या आंदोलन का भाव नहीं रहा।’’ उन्होंने कहा कि इस मंदिर के संदर्भ में भिन्न दृष्टि से देखने और भगवान राम के जीवन को महसूस करने की जरूरत है जो अनुकरणीय आदर्श हैं। आरएसएस के वरिष्ठ नेता ने कहा कि भगवान श्रीराम के मंदिर का निर्माण एक नए परिवर्तन की शुरूआत है। राम मंदिर भूमि पूजन : पीएम मोदी के अयोध्या आगमन पर अभूतपूर्व सुरक्षा के इंतजाम राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) के सह-सर कार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले ने शुक्रवार को कहा था कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण कराना सरकार की सांस्कृतिक जिम्मेदारी है और यह निर्माण सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुरूप होना चाहिए क्योंकि सरकार लोगों की नुमाइंदगी करती है। ‘राम जन्म भूमि’ पुस्तक के लोकार्पण के मौके पर आरएसएस के पदाधिकारी ने कहा, ‘मंदिर निर्माण के कार्य का संबंध केवल कानूनी या प्रशासनिक कार्य से नहीं है। Thank You, Like our Facebook Page - @24GhanteUpdate 24 Ghante Online | Latest Hindi News-24ghanteonline.com