आतंकी खतरे के कारण अयोध्या को सील करने की तैयारी, 4 अगस्त से नहीं मिलेगा प्रवेश
आतंकी खतरे के कारण अयोध्या को सील करने की तैयारी, 4 अगस्त से नहीं मिलेगा प्रवेश
देश

आतंकी खतरे के कारण अयोध्या को सील करने की तैयारी, 4 अगस्त से नहीं मिलेगा प्रवेश

news

आतंकी खतरे के कारण अयोध्या को सील करने की तैयारी, 4 अगस्त से नहीं मिलेगा प्रवेश नई दिल्ली। वर्षों के इंतजार के बाद अयोध्या में 5 अगस्त को होने वाले राम मंदिर भूमि पूजन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आगमन व आतंकी हमले की आशंका को लेकर सुरक्षा को बढ़ा दी गई है। अयोध्या के चारों ओर के क्षेत्र को सील करने की तैयारी चल रही है। इसके तहत अयोध्या समेत फैजाबाद शहर में प्रवेश के सभी मार्गों पर पूर्व में किए इंतजामों की मॉनिटरिंग की जा रही है। वहीं मुख्य कार्यक्रम की पूर्व संध्या से किसी को भी अयोध्या में प्रवेश नहीं दिया जाएगा। लखनऊ के रास्ते सड़क से आने वाले वीवीआइपी को सहादतगंज से अयोध्या में प्रवेश देने की योजना बनाई गई है।साथ ही अयोध्या जिले के पड़ोसी जनपद बस्ती, गोंडा, अंबेडकरनगर, बाराबंकी, सुलतानपुर, अमेठी आदि में पूर्व में ही नोडल अधिकारियों की नियुक्ति की जा चुकी है। इनके नेतृत्व में इन जनपदों की पुरलिस बार्डर पर कड़ी निगरानी रखेगी। वहीं जल मार्गों पर कड़ी निगरानी रखने के लिए पीएसी, जल पुलिस की तैनाती की जा रही है। वंदे भारत मिशन के तहत अबतक 8.79 लाख भारतीय स्वदेश लौटे प्रधानमंत्री के अयोध्या आगमन को लेकर हाईवे समेत अयोध्या के सभी छोटे-बड़े प्रवेश मार्गों पर बैरियर लगाए जाने की तैयारी है। यह सभी आगामी तीन अगस्त से कार्य करना शुरू कर देंगे। चार अगस्त की शाम से अयोध्या में प्रवेश प्रतिबंधित किया जा सकता है। इसके लिए सभी मार्गों पर पूर्व में किए इंतजामों की दोबारा मॉनिटरिंग की जा रही है। अयोध्या में प्रवेश के प्रमुख रास्ते जालपा देवी चौराहा, मोहबरा बाईपास, बूथ नंबर चार, रामघाट, साकेत पेट्रोल पंप, बंधा तिराहा, हनुमान गुफा समेत अन्य छोटे रास्तों को बैरीकेडिंग लगाकर सील करने की तैयारी है। इसके अलावा हाइवे पर भी पूर्व में लगे बैरीकेडिंग पर अतिरिक्त सुरक्षाकर्मी तैनात कर आने जाने वाले लोगों की सघन तलाशी ली जाएगी। पीएम सुरक्षा को लेकर कुल सात जोन बनाए गए हैं, इसमें हनुमानगढ़ी और सरयू तट जोन भी शामिल है। साकेत महाविद्यालय से लेकर नयाघाट तक के मुख्य मार्ग को सुपर सिक्योरिटी जोन में रखा गया है। इस मार्ग पर साकेत महाविद्यालय से आयोजन स्थल तक करीब एक किमी जिस पर प्रधानमंत्री सड़क के रास्ते सफर करेंगे, इन मार्गों पर लगे कई बैरियर सक्रिय हो गए हैं। श्रीरामजन्मभूमि परिसर में तीन अगस्त से पंचांग पूजन का होगा शुभारम्भ अयोध्या मुख्य मार्ग से राम जन्मभूमि की तरफ जाने वाले सभी रास्ते सील किए जाने की तैयारी है। वहीं संभावना है कि पीएम नरेंद्र मोदी हनुमानगढ़ी में दर्शन और पूजन भी कर सकते हैं, इसे ध्यान में रखते हुए मुख्य मार्ग पर यातायात बंद किया जा सकता है। पीएम के दौरे को लेकर अयोध्या के पड़ोसी जनपदों को भी अलर्ट पर रखा गया है। इन जनपदों में पूर्व में ही नोडल पुलिस अधिकारियों की तैनाती की गई थी, इन अधिकारियों ने मोर्चा संभाल लिया है। सरयू नदी पार पड़ोसी जनपद बस्ती व गोंडा की पुलिस द्वारा अयोध्या बार्डर पर लगातार चेकिंग की जा रही, इसके साथ पुलिस टीम द्वारा जल पुलिस के सहयोग से नदी में गश्त किया जा रहा है। इसके अलावा अंबेडकरनगर, सुलतानपुर, अमेठी व बाराबंकी जनपद पुलिस द्वारा बार्डर क्षेत्र पर निगरानी रखी जा रही, उनके द्वारा आने जाने वाले वाहनों व संदिग्धों की तलाशी ली जा रही है। इन जनपदों के अधिकारियों द्वारा अयोध्या पुलिस से लगातार संपर्क रख सभी गतिविधियां शेयर की जा रही है। Thank You, Like our Facebook Page - @24GhanteUpdate 24 Ghante Online | Latest Hindi News-24ghanteonline.com