एआर लेंस के साथ छह भारतीय भाषा की मूल बातें सीखें

 एआर लेंस के साथ छह भारतीय भाषा की मूल बातें सीखें
learn-six-indian-language-basics-with-ar-lens

नई दिल्ली, 9 जून (आईएएनएस)। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म स्नैपचैट ने नेपाल स्थित लेंस निर्माता अतीत खरेल द्वारा बनाए गए लर्न लैंग्वेज लेंस के माध्यम से लनिर्ंग को फन के साथ जोड़ा है। लेंस स्नैपचैटर्स को छह भारतीय भाषाओं, हिंदी, मराठी, बंगाली, पंजाबी, तेलुगु और कन्नड़ की मूल बातें समझने में मदद करते हैं। स्नैपचैट ने एक बयान में कहा कि उन्होंने 1000 से अधिक वस्तुओं को पहचानने के लिए संवर्धित वास्तविकता और मशीन लनिर्ंग को साथ में जोड़ दिया हैं। जिसके कारण एप उनके नाम का अनुवाद उस भाषा में करता हैं, जो वह सीखना चाहते है। इसमें कहा गया है कि स्थानीय और सांस्कृतिक रूप से प्रासंगिक अनुभव बनाने के लिए भारत में कंपनी के स्थानीयकरण प्रयासों को मजबूत करने के लिए नई सुविधा शुरू की गई है। स्नैप लेंस नेटवर्क के एक सदस्य, अतीत खरेल एक डिजिटल निर्माता हैं जिन्होंने बहुभाषी भारतीय संस्कृति के लिए लर्न लैंग्वेज लेंस बनाया है। वह कहते है, मैं हमेशा भारत में सांस्कृतिक विविधता और यहां बोली जाने वाली भाषाओं से मोहित रहा हूं। इन लेंसों के पीछे का विचार भारतीय भाषाओं को सीखना और विशेष रूप से नए शिक्षार्थियों के लिए आसान बनाना था। संवर्धित वास्तविकता वास्तव में मनोरंजक हो सकती है और सीखने को अधिक संवादात्मक और सुलभ बना सकती है। स्नैपचैट ने कहा कि स्नैपचैट पर लेंस लर्न बंगाली, लर्न तेलुगु, लर्न कन्नड़, लर्न हिंदी, लर्न मराठी, लर्न पंजाबी सर्च करके या स्नैपकोड को स्कैन करके या अतीत खरेल की ऑफिशियल प्रोफाइल पर उपलब्ध हैं। इन लेंसों का उपयोग कैसे करें? स्नैपचैटर्स को इसे स्कैन करने के लिए अपने कैमरों को किसी ऑब्जेक्ट पर इंगित करना होगा, और उच्चारण में सहायता के लिए शब्द के ध्वन्यात्मक ट्रांसक्रिप्शन के साथ लेंस एक साथ प्रदर्शित होंगे। युवाओं को जोड़ने के प्रयास में, स्नैपचैट ने पहले स्थानीयकृत लेंस, फिल्टर और स्टिकर जारी किए हैं। --आईएएनएस एमएसबी/आरजेएस