lead-election-updates-assembly-elections-are-announced-in-five-states-voting-will-be-held-in-8-phases-in-bengal-and-3-in-assam
lead-election-updates-assembly-elections-are-announced-in-five-states-voting-will-be-held-in-8-phases-in-bengal-and-3-in-assam
देश

(लीड चुनाव -अपडेट) पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव की घोषणा, बंगाल में 8 और असम में 3 चरणों में होगा मतदान

news

- मलप्पुरम और कन्याकुमारी लोकसभा सीटों पर भी इसके साथ होगा मतदान - 2 लोकसभा और 14 राज्यों की 18 सीटों पर भी होगा उपचुनाव, कार्यक्रम की घोषणा बाद में नई दिल्ली, 26 फरवरी (हि.स.)। चुनाव आयोग ने शुक्रवार को चार राज्यों और एक केन्द्र शासित प्रदेश के लिए चुनाव कार्यक्रम की घोषणा कर दी। पश्चिम बंगाल में आठ और असम में तीन चरणों में मतदान होगा। तमिलनाडु, केरल और पुदुचेरी में एक-एक चरण में मतदान होगा। इसके अलावा आयोग ने केरल की मलप्पुरम और तमिलनाडु की कन्याकुमारी लोकसभा सीट पर भी उपचुनाव से जुड़े मतदान कार्यक्रम की घोषणा की है। इन राज्यों में मतदान 27 मार्च से 29 अप्रैल तक चलेगा और सभी के नतीजे 2 मई को आयेंगे। दो लोकसभा सीटों आन्ध्र प्रदेश की तिरुपति (एससी) व कर्नाटक की बेलगाम सीट और 14 राज्यों की 18 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव के लिए भी इन्हीं के साथ मतदान होगा। हालांकि आयोग ने इसके लिए मतदान कार्यक्रम की घोषणा अभी नहीं की है। दिल्ली के विज्ञान भवन में प्रेसवार्ता कर मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने शुक्रवार को चुनावी राज्यों के मतदान कार्यक्रम की घोषणा की। उन्होंने बताया कि इस बार पांच राज्यों की 824 विधानसभा सीटों के लिए मतदान होगा। इसमें 8.68 करोड़ मतदाता हैं, जिनके लिए 2.71 लाख मतदान केन्द्र बनाए गए हैं। तीन लाख सर्विस मतदाता इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से मतदान के अधिकार का उपयोग करेंगे। कोविड को देखते हुए दिशानिर्देशों का पालन होगा । सभी स्थानों पर मतदान केन्द्र ग्राउंड फ्लोर पर ही होंगे और मतदान केन्द्र में मतदाताओं की संख्या एक हजार तक सीमित रहेगी। चुनाव कार्यक्रम के तहत असम में 47 सीटों के लिए 27 मार्च, 39 सीटों के लिए 1 अप्रैल और 40 सीटों के लिए 6 अप्रैल को मतदान होगा। पश्चिम बंगाल में 5 जिलों की 30 सीटों के लिए 27 मार्च, 4 जिलों की 30 सीटों के लिए 1 अप्रैल, 3 जिलों की 31 सीटों के लिए 6 अप्रैल, 5 जिलों की 44 सीटों के लिए 10 अप्रैल, 6 जिलों की 45 सीटों पर 17 अप्रैल, 4 जिलों की 43 सीटों पर 22 अप्रैल, 5 जिलों की 36 सीटों पर 26 अप्रैल और 4 जिलों की 35 सीटों पर 29 अप्रैल को मतदान होगा। केरल के 14 जिलों की 140 सीटों, तमिलनाडु के 38 जिलों की 234 सीटों और पुदुचेरी के 2 जिलों की 30 सीटों पर एक साथ 6 अप्रैल को मतदान होगा। इसी दिन केरल की मलप्पुरम और तमिलनाडु की कन्याकुमारी लोकसभा सीट पर भी मतदान होगा। चार राज्यों और एक केन्द्रशासित प्रदेश के अलावा चार लोकसभा सीटों और 14 राज्यों की 18 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव भी होंगे। इनमें कर्नाटक से बसवकल्याण (बीदर) मास्की (एसटी) (रायचूर), सिंधी (बीजापुर), ओडिशा से पिपली (पुरी), राजस्थान से सहारा (भीलवाड़ा), सुजानगढ़ (एससी) ( चुरू), वल्लभनगर (उदयपुर), राजसमंद, नागालैंड से नोकेन (एसटी) (तुएनसांग), झारखंड से मधुपुर (देवघर), मध्य प्रदेश से दमोह, उत्तराखंड से सल्ट (अल्मोड़ा), मिजोरम से सेरशिप (एसटी) (सेरछिप), तेलंगाना से नागार्जुन सागर (नलगोंडा), महाराष्ट्र से पंढरपुर (सोलापुर), हरियाणा से ऐलनाबाद( सिरसा), मेघालय माव्रिन्घाकेंग (एसटी) (ईस्ट खासी हिल्स), गुजरात से मोरवा हदफ़ (एसटी) (पंचमहल), हिमाचल प्रदेश से फतेहपुर (कांगड़ा) सीट शामिल है। उल्लेखनीय है कि असम विधानसभा का कार्यकाल 31 मई को समाप्त होने वाला है और यहां 126 सीटें हैं, जिसमें से 8 अनुसूचित जाति और 16 अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित हैं। तमिलनाडु विधानसभा का कार्यकाल 24 मई को समाप्त होने वाला है और यहां 234 सीटें हैं, जिसमें से 44 अनुसूचित जाति और 2 अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित हैं। पश्चिम बंगाल विधानसभा का कार्यकाल 30 मई को समाप्त होने वाला है और यहां 294 सीटें हैं, जिसमें से 68 अनुसूचित जाति और 16 अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित हैं। केरल विधानसभा का कार्यकाल 1 जून को समाप्त होने वाला है और यहां 140 सीटें हैं, जिसमें से 14 अनुसूचित जाति और 2 अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित हैं। पुदुचेरी विधानसभा का कार्यकाल 8 जून को समाप्त होने वाला है और यहां 30 सीटें हैं, जिसमें से 5 अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित हैं। हिन्दुस्थान समाचार/अनूप