अनुसूचित जाति आयोग के ऑनलाइन शिकायत निवारण पोर्टल की शुरुआत
launch-of-online-grievance-redressal-portal-of-scheduled-caste-commission

अनुसूचित जाति आयोग के ऑनलाइन शिकायत निवारण पोर्टल की शुरुआत

नई दिल्ली, 14 अप्रैल (हि.स.)। केंद्रीय सूचना-प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बुधवार को राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के ऑनलाइन शिकायत निवारण पोर्टल की शुरुआत की। इस पोर्टल की शुरुआत डॉ भीमराव अंबेडकर की 130वीं जयंती पर दिल्ली के राष्ट्रीय मीडिया केंद्र में की गई। इस दौरान केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय में राज्य मंत्री रतनलाल कटारिया और आयोग के अध्यक्ष विजय सांपला उपस्थित थे। इस अवसर पर केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि अंबेडकर जयंती पर इस पोर्टल की शुरुआत एक विशेष महत्व रखती है। डॉ अंबेडकर ने वंचित एवं हाशिए पर गए हुए समाज के एक वर्ग के उत्थान के लिए काम किया है। वह देश से सामाजिक असमानता को समाप्त करना चाहते थे। इस दौरान प्रसाद ने अपने आईटी मंत्रालय की डिजिटल इंडिया से जुड़े विभिन्न प्रयासों का जिक्र करते हुए कहा कि इनसे भारत सशक्त बनेगा। राज्यमंत्री रतनलाल कटारिया ने कहा कि उनका मंत्रालय समाज के कमजोर वर्गों को सशक्त बनाने की दिशा में प्रतिबद्ध है। इस नए पोर्टल से अनुसूचित जाति का व्यक्ति देश भर में कहीं से भी अपनी शिकायत दर्ज करा सकेगा। अपने आवेदन से जुड़े विषयों पर समयबद्ध तरीके से समाधान पा सकेगा। विजय सांपला ने कहा कि राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग शिकायतों के शीघ्र निवारण पर ध्यान केंद्रित कर रहा है। इस पोर्टल से शिकायत दर्ज कराना आसान होगा। राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग का गठन भारत के संविधान के अनुच्छेद 338 के तहत किया गया था। इसका उद्देश्य किसी भी कानून के तहत अनुसूचित जाति के लिए प्रदान किए गए सुरक्षा उपायों से संबंधित सभी मामलों की जांच और निगरानी करना है। हिन्दुस्थान समाचार/अनूप

No stories found.