लखीमपुर खीरी हिंसा : किसानों को न्याय, गृह राज्य मंत्री की बर्खास्तगी को लेकर भारतीय युवा कांग्रेस ने निकाला मशाल आक्रोश जुलूस

 लखीमपुर खीरी हिंसा : किसानों को न्याय, गृह राज्य मंत्री की बर्खास्तगी को लेकर भारतीय युवा कांग्रेस ने निकाला मशाल आक्रोश जुलूस
lakhimpur-kheri-violence-justice-to-the-farmers-indian-youth-congress-took-out-torch-outrage-procession-over-the-dismissal-of-the-minister-of-state-for-home

नई दिल्ली, 13 अक्टूबर (आईएएनएस)। लखीमपुर खीरी में शहीद किसानों को न्याय दिलाने और गृह राज्य मंत्री की बर्खास्तगी को लेकर भारतीय युवा कांग्रेस ने आज एक विशाल मशाल आक्रोश जुलूस निकाला। इस दौरान सैंकड़ो कांग्रेस कार्यकर्ता मशाल लेकर और हाथों में तख्ती लेकर सरकार के खिलाफ नाराजगी जताते हुए नजर आए। भारतीय युवा कांग्रेस ने मांग रखी कि, गृह राज्य मंत्री को तुरंत बर्खास्त किया जाए। भारतीय युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीनिवास बी वी ने कहा कि ऐसा प्रतीत होता है कि केंद्र सरकार की नीति अन्नदाता को थकाने और परेशान करने की है, यह एक ऐसी रणनीति है जो विफल हो चुकी है। देश का अन्नदाता भी भाजपाई नीति और हथकंडों को समझ रहा है। उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में किसानों की अक्षम्य और निर्मम हत्या ने भारत की आत्मा को झकझोर कर रख दिया है। लखीमपुर खीरी कांड में भाजपा सरकार का रवैया शुरू से संदेहास्पद रहा है और आरोपियों को बचाने की कोशिश की जा रही है। लेकिन सच्चाई क्या है, सभी को मालूम है, सरकार की लाख कोशिशों के बाद भी किसानों की न्याय की आवाज को न कुचला जा सकता है, ना ही उनका दमन किया जा सकता है। कार्यकर्ताओं के मुताबिक, जब किसान शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन कर रहे थे, तो वाहनों के काफिले ने किसानों व पत्रकार को कुचल दिया। प्रत्यक्षदर्शियों ने पुष्टि की है कि मंत्री के बेटे आशीष मिश्रा वाहन में थे। यह अब तक की सबसे विभत्स और सुनियोजित हरकतों में से एक थी, जो कैमरे में कैद हो गई थी। लखीमपुर खीरी कांड में शासन और प्रशासन का रवैया संदेहास्पद और अन्यायपूर्ण रहा है। न्याय के लिए जरूरी है कि निष्पक्ष न्यायिक जांच हो और गृह राज्यमंत्री को तुरंत बर्खास्त किया जाए। --आईएएनएस एमएसके/एएनएम

अन्य खबरें

No stories found.