किम्बर्ली-क्लार्क, प्लास्टिक फॉर चेंज कचरा संग्रहकर्ताओं को घर उपलब्ध कराने के लिए साझेदारी की

 किम्बर्ली-क्लार्क, प्लास्टिक फॉर चेंज कचरा संग्रहकर्ताओं को घर उपलब्ध कराने के लिए साझेदारी की
kimberly-clark-plastics-for-change-partner-to-provide-homes-for-waste-collectors

इस पहल के तहत, छह महीने की अवधि में, कर्नाटक के हुबली-धारवाड़क्षेत्र में 15 घरों के निर्माण के लिए कुल 30 मीट्रिक टन एकल-उपयोग और बहु-स्तरित प्लास्टिक को पुर्ननवीनीकरण किया जाएगा। एक बार राज्य में परियोजना के सफलतापूर्वक पूरा हो जाने के बाद, इसे देश के कई अन्य हिस्सों में भी विस्तारित किया जाएगा। मैनक धर, प्रबंध निदेशक, किम्बर्ली-क्लार्क इंडिया ने कहा, आज की तेजी से विकसित हो रही परिपत्र अर्थव्यवस्था में हमारे सामूहिक पर्यावरण पदचिह्न् में सुधार के लिए अभिनव समाधानों को लागू करना महत्वपूर्ण है। प्लास्टिक फॉर चेंज इंडिया फाउंडेशन फॉर प्रोजेक्ट घर के साथ हमारी साझेदारी एक ऐसी पहल है, जो हमें हमारे वैश्विक स्थिरता ²ष्टिकोण को पूरा करने की दिशा में एक अनूठा अवसर प्रदान करता है और उन समुदायों में भी वास्तविक अंतर लाता है जहां हम काम करते हैं। कंपनी ने कहा, प्लास्टिक फॉर चेंज इंडिया फाउंडेशन के साथ साझेदारी में, जहां रिक्रॉन पैनल्स जैसे चैनल पार्टनर गैर-पुर्ननवीनीकरण योग्य प्लास्टिक कचरे को इकट्ठा करेंगे और इन घरों के लिए निर्माण सामग्री के रूप में उपयोग किए जाने वाले शीट में परिवर्तित करेंगे। उन्होंने कहा, घर सीमेंट शीट या प्लाई की तुलना में हल्के और अधिक टिकाऊ होते हैं, 120 किमी/घंटा तक की हवा की गति का विरोध कर सकते हैं, कोई हीटिंग समस्या नहीं है और लगभग 30 वर्षों तक स्थायित्व प्रदान करेंगे। बेहतर स्वच्छता और सुरक्षित रहने की स्थिति के साथ, हर घर हर दिन 30 कचरा बीनने वालों के लिए आजीविका के अवसर भी पैदा करेगा। कंपनी का दावा है कि पिछले दो दशकों से, किम्बर्ली-क्लार्क विनिर्माण कचरे का पुनर्चक्रण कर रहा है, जिसमें 96 प्रतिशत की डायवर्जन दर है। --आईएएनएस एसएस/एएनएम