बाढ़ और सूखा से निपटने के लिए पूरी तैयारी रखें : नीतीश

 बाढ़ और सूखा से निपटने के लिए पूरी तैयारी रखें : नीतीश
keep-complete-preparation-to-deal-with-flood-and-drought-nitish

पटना, 7 मई (आईएएनएस)। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को अधिकारियों से बाढ़ और सूखा को लेकर पूरी तैयारी करने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रत्येक वर्ष की तरह इस बार भी बाढ़ एवं सुखाड़ की संभावना को देखते हुए पूरी तैयारी रखें। मुख्यमंत्री शुक्रवार को बिहार में संभावित बाढ़ एवं सुखाड़ की पूर्व तैयारियों की वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए समीक्षा बैठक करते हुए कहा कि बाढ़ की स्थिति में प्रभावित क्षेत्रों की टीम बनाकर सही आकलन करवाएं साथ ही प्रभावित लोगों की सूची बनाते समय पूरी पारदर्शिता बरती जाए, जिससे कोई भी पीड़ित लाभ से वंचित न रह जाए। बैठक के दौरान बताया गया कि मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार इस वर्ष मॉनसून अवधि में सामान्य वर्षा की संभावना है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमण का अभी दौर चल रहा है इससे लोगों का बचाव हमारी प्राथमिकता है। पूरा प्रशासन इसके लिए तत्परता से काम कर रहा है। इस विषम परिस्थिति में सबको मिल-जुलकर काम करना है। उन्होंने कहा कि बिहार में कभी बाढ़, कभी सुखाड़ की स्थिति बनी रहती है। प्रत्येक वर्ष की तरह इस बार भी बाढ़ एवं सुखाड़ की संभावना को देखते हुए पूरी तैयारी रखें। उन्होंने कहा, बाढ़ की स्थिति में प्रभावित क्षेत्रों का टीम बनाकर सही आकलन करवाएं। साथ ही प्रभावित लोगों की सूची बनाते समय पूरी पारदर्शिता बरती जाए, जिससे कोई भी पीड़ित लाभ से वंचित न रहे। बाढ़ राहत कार्यों में जिन-जिन पदाधिकारियों, कर्मचारियों एवं जीविका दीदियों का सहयोग लिया जाएगा उनका टीकाकरण अवश्य करवा लें। बाढ़ से सुरक्षा के लिए बचे हुए सभी कटाव निरोधक कार्य एवं बाढ़ सुरक्षात्मक कार्य को जल्द पूरा करने के निर्देश देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि बाढ़ की स्थिति में तटबंधों के निगरानी हेतु विशेष सतर्कता बरती जाए। उन्होंने कहा कि सभी विधायकों एवं विधान पार्षदों से उनके क्षेत्रों के संबंध में भी जल्द से जल्द सुझाव लें और उस पर अमल करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि 30 मई तक पशुचारा का दर एवं आपूर्तिकर्ता, बाढ़ राहत सामग्री आदि के संबंध में पूरी व्यवस्था कर लें। उन्होंने कहा कि सुखाड़ की स्थिति में पशुओं के लिए जल की उपलब्धता हो, इसकी भी तैयारी रखें। --आईएएनएस एमएनपी/जेएनएस