जेईई एडवांस सेकेंड टॉपर धनंजय ने कहा लॉकडाउन में मेडिटेशन से मिली मदद

 जेईई एडवांस सेकेंड टॉपर धनंजय ने कहा लॉकडाउन में मेडिटेशन से मिली मदद
jee-advanced-second-topper-dhananjay-said-that-meditation-helped-in-lockdown

नई दिल्ली, 15 अक्टूबर (आईएएनएस)। जेईई एडवांस परीक्षा के नतीजे घोषित कर दिए गए हैं। आईआईटी दिल्ली क्षेत्र के छात्र मृदुल अग्रवाल ने जेईई एडवांस परीक्षा में टॉप किया है। वहीं दूसरे नंबर पर धनंजय रमन और तीसरे नंबर पर अनंत लूनिया हैं। छात्राओं की श्रेणी में आईआईटी दिल्ली क्षेत्र की काव्या चोपड़ा शीर्ष स्थान पर हैं। उन्होंने कुल 360 अंकों में से 286 अंक प्राप्त किए हैं। हालांकि ऑल इंडिया रैंकिंग में उनका स्थान 98 है। जेईई एडवांस परीक्षा के नतीजों के आधार पर अब देश की 23 आईआईटी, 31 एनआईटी, 23 ट्रिपल आईटी, सहित जेएफटीआई की 40 हजार से अधिक सीटों पर दाखिले होंगे। इन परीक्षाओं में दूसरा स्थान हासिल करने वाले धनंजय रमन ने कहा कि वह आईआईटी बाम्बे का चयन करेंगे। उन्होंने तैयारी करने का मूल मंत्र अपने शिक्षकों की सलाह को माना है। शिक्षकों की दिए गए सलाह के आधार पर उन्होंने अपने प्रॉब्लम एरिया की पहचान की और उसका समाधान ढूंढा। धनंजय ने कहा कि उन्होंने एनसीईआरटी की किताबों से तैयारी की। हालांकि जो विषय एनसीईआरटी की किताबों में गहराई से नहीं बताए गए उनके लिए उन्होंने विशेष नोट्स की मदद ली। कोरोना कॉल पर बात करते हुए धनंजय ने कहा कि पढ़ाई को लेकर उनका शेड्यूल पहले से तय था। पढ़ाई के अलावा जिस एक चीज को उन्होंने काफी महत्व दिया वह था मेडिटेशन। धनंजय ने बताया कि वह प्रतिदिन मेडिटेशन करते हैं। अपनी तैयारी के दौरान भी प्रतिदिन वॉक करते थे। यदि कभी बोर हुए तो गाने सुनते हुए ही प्रश्न पत्र सॉल्व करते थे। इस दौरान वह अपना तनाव घटाने के लिए लगातार माता-पिता से विभिन्न विषयों पर चर्चा भी करते थे। वहीं ऑल इंडिया नंबर तीन रैंकिंग पर आए अनंत ने कहा कि उन्होंने भरपूर पढाई की। बोरियत और तनाव को कम करने के लिए वह अपने माता पिता से बात करते थे। दोस्तों के कांटेक्ट में भी रहे। यही कारण रहा कि कोरोना महामारी के दौरान भी वह मानसिक तौर पर पूरी तरह स्वस्थ रहें। छात्राओं की श्रेणी में अव्वल आई काव्या चोपड़ा भी आईआईटी बॉम्बे से बीटेक कंप्यूटर साइंस कोर्स का विकल्प चुनेंगी। चोपड़ा ने जेईई मेन में 300 में से 300 अंक हासिल किए थे। ऐसा करने वाली वह पहली छात्रा हैं। दिल्ली के डीपीएस वसंत कुंज की छात्रा काव्या ने सीबीएसई कक्षा 10 की परीक्षा में 97.6 प्रतिशत अंक हासिल किए थे। उनकी मां शिखा चोपड़ा ने बताया कि काव्या गणित में अच्छी हैं और उन्हें कंप्यूटर पसंद है। जेईई (एडवांस्ड) 2021 के पेपर 1 और 2 दोनों में कुल 141699 उम्मीदवार शामिल हुए। कुल 41862 उम्मीदवारों ने जेईई (एडवांस्ड) 2021 क्वालिफाई किया है। कुल क्वालिफाई में से उम्मीदवार, 6452 महिलाएं हैं। गौरतलब है कि जेईई जैसी अहम परीक्षाओं के लिए इस बार 13 विभिन्न भाषाओं को स्वीकृति प्रदान की गई थी। इंजीनियरिंग करने के इच्छुक छात्र इस सुविधा के अंतर्गत अपनी मातृभाषा में परीक्षाएं दे सके हैं। जेईई एडवांस परीक्षा के नतीजों के आधार पर अब देश की 23 आईआईटी, 31 एनआईटी, 23 ट्रिपल आईटी, सहित जेएफटीआई की 40 हजार से अधिक सीटों पर दाखिले होंगे। --आईएएनएस जीसीबी/एएनएम

अन्य खबरें

No stories found.