मध्‍य प्रदेश में जन-जागरुकता का सशक्‍त माध्यम बनी जन-अभियान परिषद

मध्‍य प्रदेश में जन-जागरुकता का सशक्‍त माध्यम बनी जन-अभियान परिषद
jan-abhiyan-parishad-became-a-strong-medium-for-public-awareness-in-madhya-pradesh

- तत्कालीन केंद्रीय मंत्री अनिल माधव दवे ने शुरू किया था जन अभियान परिषद भोपाल,13 मई (हि.स.)। पर्यावरणविद्, नर्मदा के सच्चे सेवक और तत्कालीन केंद्रीय वन, पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन राज्यमंत्री स्व. अनिल माधव दवे जब जन अभियान परिषद का पौधा रोप रहे थे तब कई ऐसे थे जिन्होंने इस पर अनेक प्रश्न खड़े किए थे। बीच में प्रदेश से भाजपा की सरकार जाने के बाद ऐसा भी वक्त आया जब जन अभियान में काम करनेवालों के सामने रोजगार का संकट तक खड़ा हो गया था। ये बात अलग है कि यह संकट कई लोगों के हस्तक्षेप के बाद टल सका। आज खास बात यह है कि कोरोना संकट काल में यही जन अभियान परिषद प्रदेश में जन जागरण एवं सेवा कार्य का सशक्त माध्यम बनकर सामने आई है। मध्य प्रदेश में कोरोना किल का बड़ा अभियान चल रहा है। समाज के विभिन्न वर्ग के लोगों, समुदायों और संगठनों के सदस्यों को कोरोना वॉलेंटियर के रूप में जोड़कर ग्राम एवं शहरों में कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए जन-जागरुकता का यह व्यापक अभियान है। इस अभियान में जन-अभियान परिषद जनजागरुकता का एक सशक्त माध्यम बनकर उभरी है। संस्कृति, पर्यटन एवं आध्यात्म मंत्री उषा ठाकुर कहती हैं कि जन-अभियान परिषद के युवा वॉलेंटियर्स शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में आमजनों को मास्क लगाने, सैनिटाइजेशन करने, वैक्सीन लगवाने, कोरोना कर्फ्यू के दौरान घरों में रहने जैसे रक्षात्मक उपायों के साथ-साथ शासकीय और निजी अस्पतालों में जरूरतमंदों को भोजन पैकेट का वितरण, मास्क-सैनिटाइजर का वितरण, मरीजों के लिए एम्बुलेंस और उपचार की निःस्वार्थ सेवा देने का कार्य भी कर रहे हैं। ठाकुर ने बताया कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के आह्वान और प्रेरणा से झाबुआ के कोरोना वॉलेंटियर और जन-अभियान परिषद की नवांकुर संस्था ने शहर के धार्मिक, सामाजिक और व्यवसायिक संगठनों को जोड़कर एक सामाजिक महासंघ की कार्य-योजना पर कार्य किया। इसमें आजाद साहित्य परिषद, व्यापारी संघ, शिवगंगा अभियान, रोटरी क्लब, शिवानी महिला मंडल, माहेश्वरी समाज, सोनी समाज, राजपूत समाज आदि के सक्रिय कार्यकर्ताओं को जोड़ा गया। झाबुआ के गांधी के नाम से विख्यात पद्मश्री महेश शर्मा, राजारामजी कटारा जैसे जन-प्रतिनिधियों द्वारा स्थानीय भीली भाषा में आमजनों को जागरूक करने का कार्य निरंतर किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि इसी तरह से सामाजिक महासंघ झाबुआ के नीरज सिंह राठौर ने नवाचार करते हुए आयुर्वेदिक चिकित्सकों के परामर्श उपरांत कपूर, लौंग और अजवाइन को संयुक्त रूप से प्रयुक्त कर 'कोरोना रक्षा पोटली' बनाई है। कपूर ऑक्सीजन की कमी को दूर करता है, साथ ही यदि लौंग और अजवाइन को भी सूंघा जाए तो कई मौसम जनित बीमारियों से बचा जा सकता है। संपूर्ण जिले में निःशुल्क वितरण के लिए जन-सहयोग से 50 हजार कोरोना रक्षा पोटलियो का निर्माण किया गया है। अलीराजपुर के पहाड़ी और दुर्गम क्षेत्रों में जगाई जागरुकता की अलख मंत्री उषा ठाकुर कहती हैं कि अलीराजपुर के पहाड़ी और दुर्गम क्षेत्रों में आदिवासी समुदायों के बीच जन-अभियान परिषद के कोरोना वॉलेंटियर्स कोरोना संक्रमण के विरुद्ध जागरुकता की अलख जगा रहे हैं। आदिवासी समुदाय जैसे भील, भिलाला और पटेलिया समाज की विचारधारा ग्रामीण अंधविश्वासी स्वभाव को मास्क लगाने, सैनिटाइजर का उपयोग करने और वैक्सीनेशन की लिए प्रेरित करना एक दुष्कर कार्य था, जिसे कोरोना वॉलेंटियर्स ने अपनी इच्छाशक्ति और दृढ़ता से पूरा कर दिखाया है। दीपक चौहान विकासखंड जोबट में एक सर्व सुविधा युक्त एम्बुलेंस वाहन दान कर एवं फत्तु डावर और दिलदार चौहान ने आमजनों को कोरोना संक्रमण के प्रति जागरूक करने का महत्वपूर्ण कार्य किया है। भोजशाला चौराहे पर बना कोरोना सेल्फी प्वाइंट ठाकुर ने बताया कि धार की भोज सांस्कृतिक उत्सव समिति ने भोजशाला चौराहे पर कोरोना सेल्फी प्वाइंट बनाया है। यहां पर आमजन मास्क पहनकर फोटो खिंचा कर अपने फेसबुक व्हाट्सएप पर पोस्ट कर सकते हैं और लोगों को कोरोना संक्रमण के प्रति जागरूक कर सकते हैं। ठाकुर ने ग्राम भरावडा के अर्जुन हाडा, युवा संगठन के श्री गुजराती माली और विकासखंड गंधवानी की माँ नर्मदा देवी स्वास्थ्य समिति के जन अभियान के माध्यम से किए जा रहे प्रयासों की सराहना की है। ठाकुर कहती हैं कि जन अभियान परिषद का संकट के दौर में समाज जीवन में आज कितना अधिक महत्व है यह सभी को समझ आ रहा है। इसके स्वयंसेवकों के निःस्वार्थ और ऊर्जावान प्रयासों से प्रदेश के दुर्गम और दूरस्थ क्षेत्रों में भी आमजनों में कोरोना संक्रमण से बचाव और वैक्सीनेशन के प्रति सकारात्मक सोच विकसित हुई है। निश्चित ही प्रभु की कृपा और जनता के सहयोग से जल्द ही हम प्रदेश को कोरोना मुक्त करेंगे। हिन्दुस्थान समाचार/ डॉ. मयंक चतुर्वेदी

अन्य खबरें

No stories found.